Logo
ब्रेकिंग
माता वैष्णों देवी मंदिर का 32वां वार्षिकोत्सव भंडारा के साथ संपन्न युवक ने प्रेमिका के लवर को उतारा मौत के घाट, वारदात को अंजाम देकर कुएं में फेंकी लाश । 1932 खतियान राज्यपाल ने किया वापस, झामुमो में आक्रोश, किया विरोध, फूंका प्रधानमंत्री का पुतला । रामगढ़ विधानसभा उपनिर्वाचन 2023 के मद्देनजर उपायुक्त ने की प्रेस वार्ता कराटे बेल्ट ग्रेडेशन टेस्ट सह प्रशिक्षण शिविर में 150 कराटेकार शामिल, उत्कृष्ट प्रदर्शनकारी को मिला ... श्रीराम सेना के विशाल हिंदू सम्मेलन में राष्ट्रवादी प्रखर प्रवक्ता पुष्पेंद्र कुलश्रेष्ठ और अंतरराष्... भव्य कलश यात्रा के साथ माता वैष्णों देवी मंदिर का 32वां वार्षिकोत्सव शुरू रामगढ़ में मनाया गया 74 वां गणतंत्र दिवस, विभिन्न कार्यालयों द्वारा निकाली गई झांकी माँ की ममता से दूर जेल में बंद पूर्व विधायक मामता देवी का दूधमुहा बच्चा बीमारी की गिरफ्त में । माता वैष्णों देवी मंदिर के 32वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 26 को

कपिल देव ने कप्तान कोहली और भारतीय टीम मैनेजमेंट से पूछा सवाल, ये खिलाड़ी क्यों हैं बाहर?

नई दिल्ली। India vs New Zealand Test Series: भारतीय टीम को आइसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप में पहली हार झेलनी पड़ी। सोमवार को न्यूजीलैंड ने भारत को 10 विकेट से हरा दिया। इसी बात को लेकर भारतीय टीम के पूर्व कप्तान कपिल देव ने भारतीय मैनेजमेंट पर सवाल खड़े कर दिए हैं कि हर मैच में क्यों प्लेइंग इलेवन को बदल दिया जाता है।

कपिल देव इस बात से नाखुश हैं कि न्यूजीलैंड के खिलाफ वेलिंगटन में खेले गए पहले टेस्ट मैच में भारतीय खिलाड़ियों ने हर तरह से खराब प्रदर्शन किया। कपिल देव ने एबीपी न्यूज से बात करते हुए कहा, “न्यूजीलैंड टीम की तारीफ करनी चाहिए, वे बहुत अच्छी क्रिकेट खेल रहे हैं। 3 मैचों की वनडे सीराज और अब इस टेस्ट मैच में उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया है। अगर हम इस मैच का गंभीर रूप से विश्लेषण करें तो मेरी समझ मैं नहीं आता कि इतने बदलाव क्यों करने हैं।

बैटिंग ऑर्डर में बड़े नाम, लेकिन परिणाम शून्य

पूर्व ऑलराउंडर कपिल देव ने आगे कहा है, “लगभग हर एक मैच में नई टीम वे उतार रहे हैं। कोई भी टीम में नियमित नहीं है। अगर आपके स्थान की सुरक्षा नहीं है तो ये खिलाड़ियों की परफॉर्मेंस पर असर डालेगा। बैटिंग ऑर्डर में बड़े नाम होने के बाद भी अगर आप दोनों पारियों में 200 का स्कोर भी बनाते हैं तो आप फिर जीत की स्थिति में नहीं होते हैं। आपको ज्यादा योजनाएं और रणनीति बनानी होंगी।”

1983 में भारतीय टीम को वर्ल्ड कप जिताने वाले कपिल देव ने कहा है कि केएल राहुल को फॉर्मेट नहीं, बल्कि फॉर्म के आधार पर टीम में शामिल किया जाना चाहिए था। कपिल देव ने कहा, “मुझे समझ नहीं आता। हमने कब खेला और क्या हो रहा है, इसके बीच में बहुत अंतर होता है। जब आप एक टीम बनाते हैं तो आपको खिलाड़ी को विश्वास में लाना होता है। जब आप ज्यादा बदलाव करते हैं तो इसका कोई मतलब नहीं है। मैनेजमेंट फॉर्मेट के हिसाब से खेलने वाले खिलाड़ियों पर भरोसा करता है। राहुल अच्छी फॉर्म में हैं, लेकिन वे बाहर बैठे हैं। जब खिलाड़ी फॉर्म में होता है तो उसे हर मैच खेलना चाहिए।”

nanhe kadam hide