लगातार 4 छक्के ठोककर ब्रैथवेट ने वेस्टइंडीज को जिताया था वर्ल्ड कप, रो पड़े थे इंग्लैंड के खिलाड़ी

yamaha

नई दिल्ली। World Cup 2016 Final: क्रिकेट वाकई में अनिश्चितताओं का खेल है, ये साल 2016 में आज ही के दिन यानी 3 अप्रैल को भलीभांति साबित हो गया था। कई मौकों पर क्रिकेट के खेल को ऊपर-नीचे देखा जाता है, लेकिन आज से ठीक 5 साल पहले इंग्लैंड की टीम के हाथ से जीता हुआ टी20 विश्व कप का खिताब निकल गया था। 20-20 ओवर का खेल महज चार गेंदों में पलट गया था।

दरअसल, 3 अप्रैल 2016 को कोलकाता के ईडन गार्डेंस मैदान पर टी20 विश्व कप का फाइनल मुकाबल इंग्लैंड और वेस्टइंडीज की टीम के बीच खेला गया था। वेस्टइंडीज टीम के कप्तान डैरेन सैमी ने टॉस जीतकर गेंदबाजी करने का फैसला किया था। इस तरह इंग्लैंड की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर खेलकर 9 विकेट खोकर 155 रन बनाए थे, जिसमें जो रूट की 54 और जोस बटलर की 36 रन की पारी शामिल थी।

उधर, 156 रन का लक्ष्य वेस्टइंडीज के लिए बड़ा भी था, क्योंकि टी20 विश्व कप का फाइनल था। ये बड़ा उस समय भी साबित हुआ, जब 19 ओवर में वेस्टइंडीज की टीम 137 रन बना पाई थी। आखिरी के ओवर में जीत के लिए वेस्टइंडीज को 19 रनों की दरकार थी। क्रीज पर कार्लोस ब्रैथवेट और 85 रन पर नाबाद खेल रहे मार्लोन सैमुअल्स थे। स्ट्राइक ब्रैथवेट के पास थी, जिनका नाम विश्व क्रिकेट में उस समय तक बहुत कम लोग जानते थे।

इंग्लैंड के लिए 19 रन गेंदबाज बेन स्टोक्स को डिफेंड करने थे, लेकिन ब्रैथवेट को ये मंजूर नहीं थी। ब्रैथवेट ने स्टोक्स की पहली गेंद पर छक्का जड़ दिया। अभी भी इंग्लैंड को जीत की आस थी, लेकिन जैसे ही दूसरी गेंद पर छक्का पड़ा तो इंग्लैंड के होश उड़ गए। इसके बाद तीसरी गेंद पर भी ब्रैथवेट ने स्टोक्स को लंबा छक्का जड़ा और स्कोर बराकर कर दिया। चौथी गेंद पर फिर से छक्का ब्रैथवेट ने ठोका और वेस्टइंडीज को जीत दिला दी। इसके बाद बेन स्टोक्स समेत इंग्लैंड के कई खिलाड़ी भावुक नजर आए, जिन्हें इयोन मोर्गन जैसे मजबूत खिलाड़ियों ने समझाया। वेस्टइंडीज के लिए ये दूसरा विश्व कप खिताब था।

raja moter

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.