Logo
ब्रेकिंग
हाथी का दांत को वन विभाग के अधिकारी ने किया जप्त। नवरात्रि के उपलक्ष में भव्य डांडिया रास का 24 सितंबर को होगा आयोजन । हजारीबाग में 30 फीट गहरी नदी में पलटी बस 07 लोगों की हुई मौत, गैस कटर से काटकर शव को निकाला गया। दो नाबालिग लड़की के दुष्कर्म मामले में फरार दोनो आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शांतनु मिश्रा राजीव गांधी पंचायती राज संगठन के प्रदेश उपाध्यक्ष मनोनीत मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन से राज्य के विभिन्न जिलों से पहुंचे नवनियुक्त जिला परिषद अध्यक्षों ने मुलाक... प्रखंड सह अंचल कार्यालय, रामगढ़ का उपायुक्त ने किया निरीक्षण पल्स पोलियो अभियान का रामगढ़ उपायुक्त ने किया शुभारंभ MRP से ज्यादा में शराब बेचने वालों की खैर नहीं, उपायुक्त ने दिया जांच अभियान चलाने का निर्देश । हेमंत कैबिनेट का बड़ा फैसला- 1932 के खतियानधारी ही झारखंडी,OBC को 27 प्रतिशत आरक्षण, जानें अन्य फैसल...

Pink ball Test में खेलते समय ये वक्त होगा बल्लेबाजों के लिए मुश्किल, रहना होगा सतर्क

अहमदाबाद। भारतीय टीम इंग्लैंड के खिलाफ 24 फरवरी से चार मैचों की सीरीज के तीसरे मुकाबले में खेलने उतरेगी। यह मैच बेहद खास होने वाला है, कोलकाता के बाद यह दूसरा मौका होगा जब भारतीय टीम घर पर पिंक बॉल टेस्ट में खेलने उतरेगी। भारत और इंग्लैंड के बीच यह पहला मौका होगा जब डे नाइट टेस्ट मैच खेला जाएगा। यह मैच भारत के लिए बेहद अहम है क्योंकि टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचने के लिए भारत को इंग्लैंड की टीम को दो मैच के अंतर से हराना है। इस मैच को जीतकर भारत फाइनल की उम्मीद को जिंदा रख सकता है।

अपना सिर्फ दूसरा गुलाबी गेंद का टेस्ट खेलने की तैयारी कर रहे भारत के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने मीडिया से बात की। रविवार को उन्होंने कहा कि भारतीय बल्लेबाजों को मैच के दौरान कब खास सावधानी बरतने की जरूरत होगी। रोहित बोले, सूर्यास्त के समय बल्लेबाजी करते हुए अतिरिक्त सतर्कता और एकाग्रता दिखानी होगी।

चेन्नई में दूसरे टेस्ट में 161 रन की आक्रामक पारी खेलने वाले रोहित ने नवंबर 2019 में बांग्लादेश के खिलाफ भारत में हुए पहले डे-नाइट टेस्ट में खेले थे लेकिन तब उन्हें सूर्यास्त के समय बल्लेबाजी नहीं करनी पड़ी थी।

रोहित ने ऑनलाइन प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘मैंने अब तक टीम के अपने साथियों से ही सुना है कि यह दिमाग में रहता है। मुझे बांग्लादेश के खिलाफ सूर्यास्त के समय में बल्लेबाजी का मौका नहीं मिला जब सूरज ढलने वाला हो। बेशक यह थोड़ा चुनौतीपूर्ण होता है, मौसम और रोशनी अचानक बदल जाते हैं। आपको अतिरिक्त सतर्क और एकाग्र रहना होता है, आपको स्वयं से बात करनी होती है। सभी बल्लेबाज इस तरह की चुनौती से वाकिफ हैं। हम बस इस स्थिति को ध्यान में रखने और इसके अनुसार खेलने की जरूरत है।’