पिंक बॉल टेस्ट को लेकर BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली ने दिया अहम बयान

मुंबई। भारत और इंग्लैंड के बीच खेली जा रही चार मैचों की टेस्ट सीरीज का तीसरा मुकाबला बेहद खास होने वाला है। इस मैच का आयोजन दुनिया के सबसे बड़े स्टेडियम में अहमदाबाद के मोटेरा में होने जा रहा है। यह पहला मौका होगा जब भारत में दोनों टीमों कोई डे नाइट टेस्ट मैच खेलेगी। कोलकाता में भारत के पहले डे नाइट टेस्ट का सफल आयोजन कराने वाले भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने एक खास बात कही है।

बीसीसीआइ अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा कि हर सीरीज में एक पिंक बॉल टेस्ट का होना आदर्श स्थिति है और क्रिकेट के सबसे लंबे प्रारूप में यह बड़ी संख्या में दर्शकों को मैदान में लाने में मददगार साबित होगा। भारत और इंग्लैंड की टीमें 24 फरवरी से अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में सीरीज का तीसरा टेस्ट मैच खेलेंगी, जो कि पिंक बॉल से खेला जाएगा। उस टेस्ट में भी प्रशंसक मौजूद रहेंगे और गांगुली पहले ही कह चुके हैं कि इस टेस्ट के लिए टिकट बिक चुके हैं।

गांगुली ने कहा, ‘अहमदाबाद के टिकट पूरे बिक चुके हैं। मैंने जय शाह से बात की है और वह इस टेस्ट मैच को लेकर काफी उत्सुक हैं। उनके लिए भी छह-सात साल बाद अहमदाबाद में क्रिकेट की वापसी हो रही है क्योंकि उन्होंने नया स्टेडियम बनाया है। मैंने उनसे कहा कि हम पिछले साल कोलकाता में पिंक बॉल टेस्ट के साथ एक उदाहरण स्थापित कर चुके हैं। इसलिए यह उससे ऊपर नहीं जा सकता और हम हर सीट और स्टैंड को भरा हुआ देखना चाहते हैं। यही वजह है कि सभी टिकट बिक चुके हैं, यहां तक कि टेस्ट के बाद टी-20 के टिकट भी बिक चुके हैं। हम दर्शकों को वापस देखना चाहते हैं।’

पिंक बॉल टेस्ट की संभावनाओं को लेकर गांगुली ने कहा, ‘निश्चित रूप से एक सीरीज में एक पिंक बॉल टेस्ट होना आदर्श है। हर पीढ़ी बदलाव के दौर से गुजरती है। पिंक बॉल टेस्ट क्रिकेट में हुए मुख्य बदलावों में से एक है और टेस्ट क्रिकेट को जीवंत बनाए रख सकता है। मुझे लगता है कि अगले सप्ताह अहमदाबाद के भरे हुए स्टेडियम में हर किसी को शानदार नजारा देखने को मिलेगा।’

Whats App