Logo
ब्रेकिंग
हाथी का दांत को वन विभाग के अधिकारी ने किया जप्त। नवरात्रि के उपलक्ष में भव्य डांडिया रास का 24 सितंबर को होगा आयोजन । हजारीबाग में 30 फीट गहरी नदी में पलटी बस 07 लोगों की हुई मौत, गैस कटर से काटकर शव को निकाला गया। दो नाबालिग लड़की के दुष्कर्म मामले में फरार दोनो आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शांतनु मिश्रा राजीव गांधी पंचायती राज संगठन के प्रदेश उपाध्यक्ष मनोनीत मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन से राज्य के विभिन्न जिलों से पहुंचे नवनियुक्त जिला परिषद अध्यक्षों ने मुलाक... प्रखंड सह अंचल कार्यालय, रामगढ़ का उपायुक्त ने किया निरीक्षण पल्स पोलियो अभियान का रामगढ़ उपायुक्त ने किया शुभारंभ MRP से ज्यादा में शराब बेचने वालों की खैर नहीं, उपायुक्त ने दिया जांच अभियान चलाने का निर्देश । हेमंत कैबिनेट का बड़ा फैसला- 1932 के खतियानधारी ही झारखंडी,OBC को 27 प्रतिशत आरक्षण, जानें अन्य फैसल...

Twitter के विकल्प मेड इन इंडिया Koo ऐप को कैसे करें डाउनलोड और इस्तेमाल, यहां जानें सबकुछ

नई दिल्ली। माइक्रोब्लाॅगिंग वेबसाइट Twitter को टक्कर देने के लिए मेड इन इंडिया ऐप ‘Koo’ को लाॅन्च किया गया है। लाॅन्च के बाद ही ये ऐप यूजर्स के बीच काफी चर्चा में है और लगातार लोकप्रिय हो रहा है। इसकी लोकप्रियता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि इसकी डाउनलोडिंग में 10 गुना बढ़ोत्तरी दर्ज हुई है। खास बात है कि पिछले दिनों देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात कार्यक्रम में भी Koo ऐप का जिक्र किया था। जिसके बाद लोगों के बीच इस ऐप डाउनलोड और इस्तेमाल करने की काफी उत्सुकता है।

प्रधानमंत्री मोदी समेत कई नेता कर रहे हैं प्रमोट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले दिनों मन की बात कार्यक्रम के दौरान मेड इन इंडिया ‘Koo‘ ऐप का जिक्र किया था। वहीं केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल और रविशंकर प्रसाद ने भी इस ऐप पर अपना अकाउंट बना लिया है। इस भारतीय ऐप को नेताओं समेत कई बड़ी हस्तियां प्रमोट कर रही हैं। इस ऐप को आत्मनिर्भर भारत अभियान का पूरा सपोर्ट मिल रहा है।

साल 2020 में हुआ था लाॅन्च

Koo ऐप की बात करें तो यह कोई ऐप नहीं है, बल्कि इसे मार्च 2020 में लाॅन्च किया गया था। इस ऐप ने भारत सरकार द्वारा शुरू किए गए आत्मनिर्भ ऐप इनोवेशन चैलेंज को भी जीता था। लेकिन चर्चा में ये अभी आया है। इस ऐप के को-फाउंडर अप्रमेय राधाकृष्ण और मयंक हैं। ये ऐप हिंदी, अंग्रेजी, गुजराती, बंगाली, तमिल, मलयालम, मराठी, पंजाबी समेत कई भारतीय भाषाओं में उपलब्ध है।

ऐसे करें डाउनलोड और इंस्टाॅल

अगर आप भी इस मेड इन इंडिया ऐप Koo का उपयोग करना चाहते हैं तो गूगल प्ले स्टोर से इसे डाउनलोड कर सकते हैं। प्ले स्टोर पर यह ऐप मुफ्त डाउनलोडिंग के लिए उपलब्ध है। डाउनलोड करने के बाद जैसे ही आप इसे ओपन करेंगे आपके रजिस्टर्ड नंबर पर एक ओटीपी भेजा जाएगा। इस ओटीपी को एंटर करते ही ऐप ओपन हो जाएगा। इस ऐप का इंटरफेस बेहद ही खास है। इसमें आपको कई सेग्मेंट मिलेंगे, जिसमें एंटरटेनमेंट, न्यूज, पाॅप्यूलर, सरकारी विभाग, प्रोफेशन, टीचर, सोशल वर्कर आदि। इनमें से आप किसी को भी फाॅलो कर वहां अपडेट्स जान सकते हैं।

इस मेड इन इंडिया ऐप के जरिए आप भी 400 अक्षरों का पोस्ट लिख सकते हैं। पोस्ट में केवल टेक्स्ट ही नहीं, बल्कि आपको ऑडियो मैसेज, वीडियो, लिंक और इमेज शेयर करने का भी विकल्प मिलेगा। यह ऐप गूगल प्ले स्टोर और ऐप स्टोर दोनों प्लेटफाॅर्म पर उपलब्ध है। प्ले स्टोर पर इसे अभी तक 10 लाख से ज्यादा बार डाउनलोड किया जा चुका है।