Logo
ब्रेकिंग
मॉबली*चिंग के खिलाफ भाकपा-माले ने निकाला विरोध मार्च,किया प्रदर्शन छावनी को किसान सब्जी विक्रेताओं को अस्थाई शिफ्ट करवाना पड़ा भारी,हूआ विरोध व गाली- गलौज सूक्ष्म से मध्यम उद्योगों का विकास हीं देश के विकास का उन्नत मार्ग है बाल गोपाल के नए प्रतिष्ठान का रामगढ़ सुभाषचौक गुरुद्वारा के सामने हुआ शुभारंभ I पोड़ा गेट पर गो*लीबारी में दो गिर*फ्तार, पि*स्टल बरामद Ajsu ने सब्जी विक्रेताओं से ठेकेदार द्वारा मासूल वसूले जाने का किया विरोध l सेनेटरी एवं मोटर आइटम्स के शोरूम दीपक एजेंसी का हूआ शुभारंभ घर का खिड़की तोड़ लाखों रुपए के जेवरात कि चोरी l Ajsu ने किया चोरों के गिरफ्तारी की मांग I 21 जुलाई को रामगढ़ में होगा वैश्य समाज के नवनिर्वाचित सांसद और जनप्रतिनिधियों का अभिनंदन l उपायुक्त ने कि नगर एवं छावनी परिषद द्वारा संचालित योजनाओं की समीक्षा।

Twitter के विकल्प मेड इन इंडिया Koo ऐप को कैसे करें डाउनलोड और इस्तेमाल, यहां जानें सबकुछ

नई दिल्ली। माइक्रोब्लाॅगिंग वेबसाइट Twitter को टक्कर देने के लिए मेड इन इंडिया ऐप ‘Koo’ को लाॅन्च किया गया है। लाॅन्च के बाद ही ये ऐप यूजर्स के बीच काफी चर्चा में है और लगातार लोकप्रिय हो रहा है। इसकी लोकप्रियता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि इसकी डाउनलोडिंग में 10 गुना बढ़ोत्तरी दर्ज हुई है। खास बात है कि पिछले दिनों देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात कार्यक्रम में भी Koo ऐप का जिक्र किया था। जिसके बाद लोगों के बीच इस ऐप डाउनलोड और इस्तेमाल करने की काफी उत्सुकता है।

प्रधानमंत्री मोदी समेत कई नेता कर रहे हैं प्रमोट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले दिनों मन की बात कार्यक्रम के दौरान मेड इन इंडिया ‘Koo‘ ऐप का जिक्र किया था। वहीं केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल और रविशंकर प्रसाद ने भी इस ऐप पर अपना अकाउंट बना लिया है। इस भारतीय ऐप को नेताओं समेत कई बड़ी हस्तियां प्रमोट कर रही हैं। इस ऐप को आत्मनिर्भर भारत अभियान का पूरा सपोर्ट मिल रहा है।

साल 2020 में हुआ था लाॅन्च

Koo ऐप की बात करें तो यह कोई ऐप नहीं है, बल्कि इसे मार्च 2020 में लाॅन्च किया गया था। इस ऐप ने भारत सरकार द्वारा शुरू किए गए आत्मनिर्भ ऐप इनोवेशन चैलेंज को भी जीता था। लेकिन चर्चा में ये अभी आया है। इस ऐप के को-फाउंडर अप्रमेय राधाकृष्ण और मयंक हैं। ये ऐप हिंदी, अंग्रेजी, गुजराती, बंगाली, तमिल, मलयालम, मराठी, पंजाबी समेत कई भारतीय भाषाओं में उपलब्ध है।

ऐसे करें डाउनलोड और इंस्टाॅल

अगर आप भी इस मेड इन इंडिया ऐप Koo का उपयोग करना चाहते हैं तो गूगल प्ले स्टोर से इसे डाउनलोड कर सकते हैं। प्ले स्टोर पर यह ऐप मुफ्त डाउनलोडिंग के लिए उपलब्ध है। डाउनलोड करने के बाद जैसे ही आप इसे ओपन करेंगे आपके रजिस्टर्ड नंबर पर एक ओटीपी भेजा जाएगा। इस ओटीपी को एंटर करते ही ऐप ओपन हो जाएगा। इस ऐप का इंटरफेस बेहद ही खास है। इसमें आपको कई सेग्मेंट मिलेंगे, जिसमें एंटरटेनमेंट, न्यूज, पाॅप्यूलर, सरकारी विभाग, प्रोफेशन, टीचर, सोशल वर्कर आदि। इनमें से आप किसी को भी फाॅलो कर वहां अपडेट्स जान सकते हैं।

इस मेड इन इंडिया ऐप के जरिए आप भी 400 अक्षरों का पोस्ट लिख सकते हैं। पोस्ट में केवल टेक्स्ट ही नहीं, बल्कि आपको ऑडियो मैसेज, वीडियो, लिंक और इमेज शेयर करने का भी विकल्प मिलेगा। यह ऐप गूगल प्ले स्टोर और ऐप स्टोर दोनों प्लेटफाॅर्म पर उपलब्ध है। प्ले स्टोर पर इसे अभी तक 10 लाख से ज्यादा बार डाउनलोड किया जा चुका है।