Logo
ब्रेकिंग
स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न ।

चेन्नई टेस्ट मैच देखने के लिए टिकट लेने टूटे फैंस, तोड़े सोशल डिस्टेंसिंग के सारे नियम

चेन्नई। कोरोना वायरस संक्रमण फैलने के बाद से भारत में इंटरनेशनल क्रिकेट पर ब्रेक लग गया था। अब एक साल के बाद भारतीय सरजमीं पर कोई इंटरनेशनल सीरीज खेली जा रही है। भारत और इंग्लैंड के बीच खेली जा रही टेस्ट सीरीज मजा उठाने के लिए भारत सरकार ने दर्शकों को स्टेडियम में जाने की इजाजत दे दी है। चेन्नई में खेला जाने वाला दूसरा टेस्ट 50 फीसदी दर्शकों की क्षमता से भरा होगा।

भारत और इंग्लैंड के बीच दूसरे टेस्ट मैच के टिकट हासिल करने के लिए यहां एमए चिदंबरम स्टेडियम में क्रिकेट प्रेमियों की भीड़ उमड़ पड़ी और इस बीच शारीरिक दूरी के नियमों की जमकर धज्जियां उड़ाई गई। सभी टिकटों की बिक्री हालांकि ऑनलाइन की गई, लेकिन प्रशंसकों को टिकट लेने के लिए स्टेडियम आना पड़ा।

तमिलनाडु क्रिकेट संघ (टीएनसीए) ने दूसरे टेस्ट मैच के लिए स्टेडियम की क्षमता के 50 प्रतिशत दर्शकों को अनुमति दी है। इससे लगभग एक साल बाद देश में किसी खेल प्रतियोगिता में दर्शकों की वापसी होगी। गुरुवार को पूरे दिन इंटरनेट मीडिया पर यह चर्चा चलती रही कि स्टेडियम के बाहर लंबी कतारें लगी हुई हैं और शारीरिक दूरी के नियमों का पालन नहीं किया जा रहा है, लेकिन टीएनसीए के एक अधिकारी ने कहा कि शुरू में भ्रम की स्थिति बन गई थी, लेकिन जल्द ही चीजों को सुलझा दिया गया

अधिकारी ने कहा, ‘टीएनसीए ने घोषणा की थी कि दूसरे टेस्ट मैच के लिए ऑनलाइन बुक किए गए टिकटों को 11 फरवरी से लिया जा सकता है। हालांकि लगता है कि वे इसे गलत समझ बैठे और स्टेडियम में आ गए, जिसके कारण भीड़ हो गई और भ्रम की स्थिति बन गई।’