Logo
ब्रेकिंग
आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी

रिषभ पंत ने भारत को जिताया ऐतिहासिक टेस्ट, वीरेंद्र सहवाग ने रख दिया ब्रिसबेन का ये नाम

नई दिल्ली। Ind vs Aus: भारतीय क्रिकेट टीम ने ब्रिसबेन के गाबा में एक भी मुकाबला नहीं जीता था, लेकिन 19 जनवरी को भारतीय टीम ने ब्रिसबेन में ऐतिहासिक जीत दर्ज की। इस जीत के हीरो रिषभ पंत रहे, जिन्होंने चौथी पारी में नाबाद 89 रन की पारी खेली और भारत को मैच ही नहीं, बल्कि सीरीज भी जिता दी। इसके बाद पंत की तारीफ हो रही है, लेकिन पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने ब्रिसबेन का नाम बदलने की दलील दी है।

दरअसल, रिषभ पंत ने ब्रिसबेन में शानदार पारी खेली। इसके बाद वीरेंद्र सहवाग ने अपने इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट किया है, जिसमें उन्होंने कहा है कि आज से ब्रिसबेन का नाम पंत नगर होगा। सहवाग ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का एक फोटो शेयर किया है, जिसके ऊपर लिखा है, “आज से ब्रिसबेन का नाम पंत नगर” पंत की पारी के बाद इंटरनेट मीडिया पर मीम्स की बौछार हुई, जिसमें एक मीम ये भी रहा, क्योंकि सीएम योगी शहरों का नाम बदलते रहते हैं।

वीरेंद्र सहवाग इस पोस्ट के कैप्शन में लिखा है, “इस सीरीज में मिली जीत इस तरह की जीत है जो कोई व्यक्ति कई पीढ़ियों में नहीं देख पाता। कुछ भी मायने नहीं रखता। इस जीत की खुशी सालों तक मनाई जानी चाहिए। 19 जनवरी फतेह। जय भारत।” सहवाग ने भी पंत नगर के अलावा कुछ नाम सुझाए हैं, जिनमें पुजारा ड्राइव, गिल सर्कल, ठाकुर कॉलोनी, सिराज रोड, वॉशिंगटन टाउन का नाम लिया है। ये सभी खिलाड़ी इस मैच के हीरो थे।

भारत के ऑस्ट्रेलिया दौरे की बात करें तो ये वनडे सीरीज के साथ शुरू हुआ था, जिसमें भारत ने 1-2 से मात खाई थी, लेकिन फिर 2-1 से टी20 सीरीज जीतने के बाद भारत ने टेस्ट सीरीज में भी 2-1 से फतेह हासिल की है। इस सीरीज की शुरुआत में भारतीय टीम पहला मुकाबला बुरी तरह हारी थी, जिसमें भारतीय टीम महज 36 रन पर ढेर हो गई थी। यहां तक कि आखिरी मैच तक भारत के पास एक भी अनुभवी गेंदबाज प्लेइंग इलेवन में नहीं था।