Logo
ब्रेकिंग
हाथी का दांत को वन विभाग के अधिकारी ने किया जप्त। नवरात्रि के उपलक्ष में भव्य डांडिया रास का 24 सितंबर को होगा आयोजन । हजारीबाग में 30 फीट गहरी नदी में पलटी बस 07 लोगों की हुई मौत, गैस कटर से काटकर शव को निकाला गया। दो नाबालिग लड़की के दुष्कर्म मामले में फरार दोनो आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शांतनु मिश्रा राजीव गांधी पंचायती राज संगठन के प्रदेश उपाध्यक्ष मनोनीत मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन से राज्य के विभिन्न जिलों से पहुंचे नवनियुक्त जिला परिषद अध्यक्षों ने मुलाक... प्रखंड सह अंचल कार्यालय, रामगढ़ का उपायुक्त ने किया निरीक्षण पल्स पोलियो अभियान का रामगढ़ उपायुक्त ने किया शुभारंभ MRP से ज्यादा में शराब बेचने वालों की खैर नहीं, उपायुक्त ने दिया जांच अभियान चलाने का निर्देश । हेमंत कैबिनेट का बड़ा फैसला- 1932 के खतियानधारी ही झारखंडी,OBC को 27 प्रतिशत आरक्षण, जानें अन्य फैसल...

मो. सिराज को लेकर हुआ बड़ा खुलासा, जानिए उन पर किस तरह की नस्लीय टिप्पणी की गई

सिडनी। सिडनी टेस्ट मैच के चौथे दिन भी भारतीय क्रिकेटर मो. सिराज पर नस्लीय टिप्पणी की गई और इसके बाद मामला ज्यादा गंभीर हो गया। इस टेस्ट मैच के दूसरे व तीसरे दिन भी ऑस्ट्रेलियाई दर्शकों द्वारा ऐसा किया गया था। अब भारतीय क्रिकेट कंंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआइ के एक अधिकारी ने आरोप लगाया कि भारतीय तेज गेंदबाज मो. सिराज को रविवार को तीसरे टेस्ट मैच के दौरान ऑस्ट्रेलियाई दर्शकों के समूह ने नस्लीय टिप्पणियां करते हुए उन्हें ब्राउन डॉग और बिग मंकी भी कहा। हालांकि इस घटना के बाद इन दर्शकों को मैदान से बाहर कर दिया गया। वहीं आइसीसी इस मामले में सख्त हो गई है और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया से कार्रवाई की रिपोर्ट मांगी है।

बीसीसीआइ के एक सूत्र ने पीटीआइ को बताया कि, मो. सिराज को ब्राउन डॉग और बिग मंकी कहा गया और ये दोनों ही नस्ली टिप्पणी है। इसके बाद मैदान पर मौजूद अंपायरों को तुरंत इस मामले की जानकारी दी गई और वो बुमराह को भी लगातार अपशब्द कह रहे थे। इससे पहले भी सिराज और बुमराह को निशाना बनाया गया था और इसके बाद भारतीय टीम प्रबंधन ने मैच रेफरी डेविड बून से इसकी शिकायत की थी।

सिडनी में रविवार को ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी के 86वें ओवर के दौरान सिराज को बाउंड्री से आकर स्क्वायर लेग अंपायर से बात करते देखा गया जिसके बाद गेंदबाजी छोर के अंपायर और बाकी सीनियर खिलाड़ी भी वहां आकर चर्चा करने लगे। खेल लगभग 10 मिनट रुका रहा जिसके बाद स्टेडियम के सुरक्षाकर्मी और न्यू साउथ वेल्स पुलिस के कर्मचारी संबंधित स्टैंड में गए जहां से अपशब्द कहे जा रहे थे।

समीप के क्षेत्र में बैठे लोगों से बात करने के बाद पुलिस ने छह समर्थकों को स्टेडियम से बाहर निकाल दिया और अब ये न्यू साउथ वेल्स पुलिस की हिरासत में हैं। पता चला है कि शनिवार को भारतीय टीम ने तीसरे दिन का खेल खत्म होने के बाद मैच अधिकारियों को दर्शकों के दुर्व्यवहार के बारे में बताया था लेकिन तब तक वे स्टेडियम से जा चुके थे।

बीसीसीआइ सूत्र के मुताबिक दरअसल भारतीय खिलाड़ी मैच के दौरान अपना ध्यान नहीं भटकाना चाहते थे और फैसला किया गया कि दिन का खेल खत्म होने के बाद इस मामले की शिकायत की जाएगी। हालांकि अंपायरों ने हमें कहा कि जब भी इस तरह की कोई चीज हो तो खिलाड़ी तुरंत इसकी जानकारी दें। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का वादा किया है और मेहमान टीम से माफी भी मांगी है।

वहीं दूसरी तरफ आइसीसी ने इस मामले को गंभीरता से लिया है और उसकी तरफ  से जारी बयान में कहा गया कि आइसीसी सिडनी क्रिकेट मैदान में ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच चल रहे तीसरे टेस्ट मैच के दौरान नस्लवाद की घटनाओं की कड़ी निंदा करता है और इसकी जांच में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को सभी आवश्यक समर्थन देने की पेशकश करता है।