जम्मू कश्मीर में बदला मौसम, भूस्खलन के चलते नेशनल हाईवे बंद

yamaha

जम्मू। जम्मू कश्मीर में उधमपुर जिला के चिनैनी शहर में भूस्खलन के चलते नेशनल हाईवे बंद कर दिया गया है। पिछले दो दिनों राज्य में उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में बर्फबारी और मैदानी क्षेत्रों में ओलावृष्टि व बारिश ने जनजीवन को अस्तव्यस्त कर दिया है। घाटी में गुरुवार को मौसम का मिजाज भी काफी तीखा रहा। गुलमर्ग समेत अधिकांश उच्च पर्वतीय इलाकों में बर्फबारी, जबकि निचले इलाकों में झमाझम बारिश हुई। श्रीनगर समेत अधिकांश निचले इलाकों में पिछले दिनों दिनभर रुक-रुक कर बारिश होती रही। बर्फबारी और बारिश से पूरी वादी में एक बार फिर स ठंड ने दस्तक दे दी है।

ट्रैफिक विभाग के अनुसार रामबन और बनिहाल के बीच अभी भी भूस्खलन हो रहा है। बेटरी चश्मा में भूस्खलन के बाद मलवा सड़क पर एकत्र हो गया है। मौसम अभी भी खराब है। भारी बारिश का अंदेशा है। हालांकि नेशनल हाइवे अथारिटी आफ इंडिया के कर्मचारी जेसीबी की मदद से मलवे को हटाने का काम कर रहे हैं परंतु यात्रियों की सुरक्षा को मद्देनजर रख भूस्खलन वाले इलाकों में फंसे वाहनों को हटाकर सुरक्षित इलाकों में खड़ा करवा दिया गया है। अभी हाइवे खुलने के बारे में कोई भी स्पष्ट जानकारी नहीं दे रहा है।

अधिकारियों का कहना है कि मौसम साफ रहा तो आज शाम तक हाइवे पर गिरे मलवे को हटा लिया जाएगा। वहीं ट्रैफिक विभाग का कहना है कि यदि हाइवे वाहनों के लिए खुल भी जाता है तो भी नए वाहनों को सड़कों पर उतरने की इजाजत नहीं दी जाएगी। अभी जम्मू व कश्मीर में सैकड़ों वाहन हाइवे पर फंसे हुए हैं। फिलहाल उन्हें ही निकाला जाएगा। इसमें काफी समय लग सकता है। ऐसे में लोगों को चाहिए कि वह पहाड़ी इलाकों में यात्रा करने से पहले ट्रैफिक कंट्रोल विभाग से जानकारी हासिल कर लें। उन्होंने बताया कि जिला ऊधमपुर के रामनगर इलाके और किश्तवाड़ में भी कई जगह भूस्खलन होने की वजह से मुख्य मार्ग पर यातायात अवरूद्ध है। वहीं मौसम विभाग का कहना है कि आज दोपहर बाद से मौसम साफ होना शुरू हो जाएगा।

raja moter

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.