Logo
ब्रेकिंग
आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी

साहिबगंज डीसी की बढ़ेंगी मुश्किलें, कारतूस और सैलरी ने फंसाया

साहिबगंज डीसी रामनिवास यादव पर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है. ईडी की छापेमारी के बाद वो जांच के दायरे में आ गए हैं.

झारखंड के एक और आईएएस अफसर पर गिरफ्तारी की तलवार लटकने लगी है. साहिबगंज के डीसी रामनिवास यादव बुधवार को ईडी की रेड के बाद जांच के दायरे में आ गए हैं. अवैध कारतूस, रिश्वत के पैसे और सैलरी तीनों के फेर में साहिबगंज डीसी साहब फंस गए हैं.
आज 5 जनवरी 2023 दिन शुक्रवार है l सोशल मीडिया, इलेक्ट्रॉनिक और प्रिंट मीडिया की हेडलाइंस में साहिबगंज के डीसी साहब ही सुर्खियां बटोरते नजर आ रहे हैं l

जानकारी के अनुसार ईटीवी भारत के न्यूज़ पोर्टल में छपी खबर के अनुसार ईडी के द्वारा गुरुवार या शुक्रवार को साहिबगंज डीसी से पूछताछ के लिए समन जारी किया सकता है.

आखिर आप जान ले की क्या है पूरा मामला?

बुधवार को ईडी ने साहिबगंज डीसी के आवास, कार्यालय और उनके राजस्थान स्थित आवास पर एक साथ रेड किया था. रेड के दौरान साहिबगंज डीसी रामनिवास यादव के पास से रिश्वत में मिले आठ लाख रुपए के साथ साथ नाइन एमएम पिस्टल की 14 कारतूस भी मिले हैं. ईडी के मुताबिक, बुधवार को ईडी की टीम ने जब डीसी के ऑफिस में छापा मारा तो फाइल के बीच लिफाफे में आठ लाख रुपए मिले, वहीं दफ्तर में गोलियां भी मिली. ईडी के अधिकारियों के मुताबिक, डीसी से बरामद पैसों और गोलियों के विषय में पूछा तो उन्होंने सीधे अनभिज्ञता जारी की. एजेंसी के अधिकारियों ने मौके पर अन्य कर्मियों से पूछताछ की, तब जानकारी मिली कि मंगलवार को डीसी को आठ लाख रुपए आए थे. ये पैसे किन स्रोतों से आए हैं, ईडी यह जांच कर रही है. ईडी अधिकारियों के मुताबिक, अवैध गोली की बरामदगी के मामले में एजेंसी स्थानीय थाने में केस दर्ज कराएगी.
वही ईडी ने जांच में पाया है कि डीसी रामनिवास यादव ने साहिबगंज में पोस्टिंग के बाद अपने सैलरी अकाउंट से कभी पैसे नहीं निकाले. ईडी ने इस विषय में भी बुधवार से उनसे पूछताछ की है कि बगैर सैलरी खाते से निकासी के वह कैसे गुजारा करते थे. एजेंसी ने जांच में पाया है कि एजेंसी के द्वारा जब उन्हें समन किया गया था, उसके बाद उन्होंने सैलरी खाते से निकासी शुरू की थी.

रामनिवास यादव झारखंड के तीसरे ऐसे आईएएस अधिकारी हैं, जिनके ऊपर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है, इससे पहले पूजा सिंघल और छवि रंजन ईडी के शिकंजे में आकर जेल में बंद है. अगले दो दिनों में ईडी दफ्तर में रामनिवास यादव से संभवत पूछताछ की जाएगी l