Logo
ब्रेकिंग
Bjp प्रत्याशी ढुल्लु महतो के समर्थन में विधायक सरयू राय के विरुद्ध गोलबंद हूआ झारखंड वैश्य समाज l हजारीबाग लोकसभा इंडिया प्रत्याशी जेपी पटेल ने किया मां छिनमस्तिका की पूजा अर्चना l गांजा तस्कर के साथ मोटासाइकिल चोर को रामगढ़ पुलिस ने किया गिरफ्तार स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार

दिग्विजय ने सिंधिया पर लगाया गंभीर आरोप! नाथूराम ने गांधी की हत्या के लिए ग्वालियर से खरीदी थी बंदूक

भोपाल: कांग्रेस के कद्दावर नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के इस्तीफे के बाद मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने बिना किसी का नाम लिए बड़ा आरोप लगाया है। उन्होंने ट्वीट में लिखा कि महात्मा गांधी की हत्या के लिए जिस बंदूक का इस्तेमाल किया था वो ग्वालियर से खरीदी गई थी। माना जा रहा है कि अप्रत्यक्ष रूप से उन्होंने ज्योतिरादित्य सिंधिया को निशाने पर लिया है।

बता दें कि इससे पहले कमलनाथ सरकार के मंत्री जीतू पटवारी,  जयवर्धन सिंह और पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण यादव ने भी सिंधिया के बगावती तेवरों के बाद अपने बयानों के जरिए हमला बोला था। अरुण यादव ने तो उनके खानदान को लेकर ट्वीट के जरिए गद्दार कहा था। उन्होंने ट्वीट में लिखा, ”ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा अपनाए गए चरित्र को लेकर मुझे ज़रा भी अफसोस नहीं है।

सिंधिया खानदान ने स्वतंत्रता संग्राम के दौरान भी जिस अंग्रेज हुकूमत और उनका साथ देने वाली विचारधारा की पंक्ति में खड़े होकर उनकी मदद की थी, आज ज्योतिरादित्य ने उसी घिनौनी विचारधारा के साथ एक बार पुनः खड़े होकर अपने पूर्वजों को सलामी दी है।” अरुण यादव ने ट्वीट करते हुए लिखा आगे लिखा, ”आने वाला वक़्त अपने स्वार्थों के लिए कांग्रेस कार्यकर्ताओं के 15 वर्षों तक किए गए ईमानदारी पूर्ण जमीनी संघर्ष के बाद पाई सत्ता को अपने निजी स्वार्थों के लिए झोंक देने वाले जयचंदों- मीर जाफरों को कड़ा सबक सिखाएगा।”