Logo
ब्रेकिंग
स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न ।

फर्जी डिग्री मामले में मानव भारती विश्‍वविद्यालय के असिस्‍टेंट रजिस्‍ट्रार गिरफ्तार, एसआइटी ने की कार्रवाई

सोलन। मानव भारती विश्वविद्यालय फर्जी डिग्री मामले में मनीष गोयल नाम के व्यक्ति की गिरफ्तारी हुई है। पुलिस ने बताया मनीष गोयल को कुछ कागजों में असिस्टेंट रजिस्ट्रार बताया गया है, जबकि अन्य दस्तावेजों में उन्हें और भी कई कार्यों की जिम्मेदारियां दी गई थीं। पुलिस ने उन्हें धोखाधड़ी के मामले में गिरफ्तार किया है। इस मामले में अभी और भी कई लोगों के गिरफ्तार होने की संभावना जताई जा रही है। पुलिस दिन-रात विश्वविद्यालय परिसर में फर्जी डिग्री मामले की जांच में जुटी हुई है। इस दौरान 100 से अधिक पुलिस बल मौके पर ही तैनात है।

अभी मौके पर एसआइटी के प्रभारी एसपी सोलन अभिषेक यादव सहित अन्य वरिष्ठ पुलिस अधिकारी भी मौजूद हैं। मामले की पुष्टि एसपी सोलन अभिषेक यादव ने की है। उन्होंने कहा इस मामले में छानबीन चल रही है और भी कई लोगों के गिरफ्तार होने की संभावना है। पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए मनीष गोयल मोहाली के मूल निवासी हैं, जो सोलन मानव भारती में कई पदों पर कार्य करते हैं।

स्टोर में मिले अनचैक अंशरशीट

मानव भारती विश्वविद्यालय के स्टोर में जांच के दौरान ऐसे अनेकों अांसर शीट यानी उत्तरपुस्तिकाएं मिली हैं, जिन्हें चेक ही नहीं किया गया है। ऐसे भी अांसरशीट मिले हैं, जिन्हें चेक तो किया गया है लेकिन उनके मार्किंग में कई तरह के झोल किए गए हैं। विश्वविद्यालय परिसर में कुछ ऐसे दस्तावेज भी मिले हैं जिन्हें अब यूजीसी द्वारा मान्यता नहीं थी।

एसआइटी दर्ज कर चुकी है एफआइआर

मामले की जांच के लिए गठित एसआईटी के प्रभारी एसपी सोलन अभिषेक यादव का कहना है कि मानव भारती विश्वविद्यालय पर 420, 467, 468, 120बी आईपीसी के तहत तीन अलग अलग एफआईआर दर्ज हो चुकी है। विश्वविद्यालय में संबंधित दस्तावेजों व परिसर को सीज किया गया है। मामले की छानबीन चल रही है। जांच के दौरान उन्हें विश्वविद्यालय के स्टोर में कुछ डिग्रियां मिली हैं।