भीम आर्मी के मुखिया चंद्रशेखर आजाद ने मांगा पार्टी नाम का सुझाव, लोगों ने जमकर किया ट्रोल…

yamaha

लखनऊ: भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद ने लोगों से पार्टी के नाम का सुझाव मांगा है। चंद्रशेखर ने ट्वीट कर कहा, ‘‘जय भीम साथियों..आप सभी को पता है कि हमारे संघर्षों को एकजुट कर 15 मार्च को हम एक राजनीतिक पार्टी बनाने जा रहे है आप सभी साथियों से अपील है कि नाम के लिए सुझाव दें।’’

PunjabKesari
पार्टी के नाम का सुझाव मांगने पर लोगों ने चंद्रशेखर आजाद को जमकर ट्रोल किया। कुछ लोगों ने उन्हें कोशा तो कुछ ने पार्टी के नाम भी सुझाए। गौरतलब है कि 15 मार्च को है मान्यवर कांशीराम का जन्मदिन है। इसी दिन चंद्रशेखर आजाद अपनी पार्टी का ऐलान करेंगे।

कौन हैं कांशीराम?
कांशीराम (15 मार्च 1934- 9 अक्टूबर 2006) भारतीय राजनीतिज्ञ और समाज सुधारक थे। उन्होंने भारतीय वर्ण व्यवस्था में अछूतों और दलितों के राजनीतिक एकीकरण तथा उत्थान के लिए कार्य किया। इसके अन्त में उन्होंने दलित शोषित संघर्ष समिति (डीएसएसएसएस), 1971 में अखिल भारतीय पिछड़ा और अल्पसंख्यक समुदायों कर्मचारी महासंघ (बामसेफ) और 1984 में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की स्थापना की। बहुजन समाज पार्टी के संस्थापक और दलित राजनीति के सबसे बडे नेता थे। दलितों के उत्थान की छटपटाहट और उनके हाथ में सत्ता होने का सपना देखने वाले कांशीराम ने ही मायावती की क्षमता को पहचाना और उन्हें राजनीति में आने को प्रेरित किया। मृत्यु से कुछ महीने पहले कांशीराम में मायावती को अपना उत्तराधिकारी घोषित कर दिया। देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश का 4 बार मुख्यमंत्री रहीं  मायावती इस समय बसपा की अध्यक्ष हैं।

raja moter
Leave A Reply

Your email address will not be published.