Logo
ब्रेकिंग
स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न ।

भाजपा नेत्री जयाप्रदा के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी, जानिए क्या है मामला?

रामपुर: लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान आचार संहिता का उल्लंघन करना बीजेपी प्रत्याशी जयाप्रदा को भारी पड़ गया है। आचार संहिता के मामले में कोर्ट में पेश न होने पर उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किए गए हैं। इस मामले में अगली सुनवाई 20 अप्रैल को होगी। वहीं कैमरी थाने में दर्ज आचार संहिता के मुकदमे में अगली सुनवाई 27 मार्च को होगी।

चार्जशीट के बाद भी कोर्ट में नहीं हुईं हाजिर 
जयाप्रदा दस वर्ष तक रामपुर से समाजवादी पार्टी से सांसद थीं। बीते वर्ष लोकसभा चुनाव में वह भाजपा प्रत्याशी थीं। उनको बहुजन समाज पार्टी तथा समाजवादी पार्टी के संयुक्त प्रत्याशी आजम खां से पराजय झेलनी पड़ी थी। इस दौरान स्वार थाने में उनके खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन का मुकदमा दर्ज हुआ। उनके खिलाफ आरोप है कि लोकसभा चुनाव के दौरान स्वार के ग्राम नूरपुर में उन्होंने सड़क का लोकार्पण किया था। इस प्रकरण में मजिस्ट्रेट ने आचार संहिता उल्लंघन करने पर मुकदमा दर्ज कराया गया। पुलिस ने जांच पड़ताल के बाद चार्जशीट लगा दी थी। इस मामले में वह कोर्ट में हाजिर नहीं हो सकी थी। शुक्रवार को वह सुनवाई की तारीख पर उपस्थित नहीं हुईं। इस पर एमपी एमएलए स्पेशल कोर्ट ने उनके खिलाफ एनबीडब्ल्यू जारी कर दिए।

केमरी थाने में भी दर्ज है उनके खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन का मुकदमा 
इसके अलावा केमरी थाने में भी उनके खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन का मुकदमा हुआ था। ग्राम पिपलिया मिश्र में चुनावी सभा के दौरान उन्होंने आजम खां और मायावती को लेकर टिप्पणी की थी। इस मामले में भी पुलिस ने जांच पड़ताल के बाद चार्जशीट लगा दी थी। इस मामले में अदालत ने वारंट जारी करते हुए सुनवाई के लिए 27 मार्च लगाई है।