येस बैंक में अफरातफरी का माहौल, ग्राहकों में बेचैनी

yamaha

जमशेदपुर। येस बैंक को भारतीय रिजर्व बैंक ने अपने कब्जे में ले लिया है, इस खबर से जमशेदपुर में भी येस बैंक की शाखाओं में अफरातफरी का माहौल है। जिन्हें पैसा निकालना है, वे तो बैंक आ ही रहे हैं, जिन्हें नहीं निकालना है, वे भी बैंक की स्थिति जानने आ रहे हैं।

जुगसलाई निवासी गुरदीप सिंह ने बताया कि (टीएमएच) टाटा मुख्य अस्पताल में उनके परिवार का सदस्य भर्ती है। जब वे अस्पताल इलाज का बिल भुगतान करने पहुंचे तो कार्ड डिक्लाइन बताने लगा। अलग-अलग स्वाइप मशीन में जब ऐसा होने लगा, तो उन्हें बेचैनी हुई। वे भागे-भागे साकची ब्रांच आए तो पता चला कि येस बैंक का आनलाइन ट्रांजेक्शन बंद कर दिया गया है।

अब वे चेक लाने घर जा रहे हैं। व्यवसायी सन्नी भाटिया ने बताया कि उन्होंने बिष्टुपुर के पेट्रोल पंप पर बाइक में पेट्रोल भरा लिया और जब कार्ड से पेमेंट करने लगे तो स्वाइप सिस्टम काम नहीं कर रहा था। संयोग से एक परिचित दिखाई दिया तो उससे पैसे मांगकर पेट्रोल पंप वाले को भुगतान किया। साकची के निवासी विशाल कुमार ने बताया कि इसी ब्रांच में उनका बचत खाता है।

होली के लिए पैसा निकालना था, लेकिन आनलाइन ट्रांजेक्शन ही नहीं हो रहा है। परेशान हो कर बैंक में आया तो बताया गया कि चेक से ही पैसा मिल सकता है। मुसीबत है कि मेरे पास चेकबुक भी नहीं है। खत्म हो गया था, तो नया इश्यू नहीं कराया। अभी चेकबुक के लिए आवेदन किया है। बैंक वाले बता रहे हैं कि चेकबुक मिलने में सात से दस दिन लग सकते हैं।

ऐसे में मेरी होली तो बरबाद हो गई। ज्ञात हो कि जमशेदपुर में येस बैंक की साकची, बिष्टुपुर, मानगो व आदित्यपुर में शाखा है। सभी शाखाओं में यही स्थिति है। ग्राहक बैंक के बाहर खड़े होकर तरह-तरह की बात कर रहे हैं। बैंक प्रबंधक या कर्मचारी मीडिया से कुछ नहीं बोल रहे हैं। उनका कहना है कि दिल्ली से ही ब्रीफिंग हो रही है, हमें मीडिया से बात करने के लिए मना किया गया है। शहर में येस बैंक के करीब 60 हजार ग्राहक हैं।

raja moter
Leave A Reply

Your email address will not be published.