Logo
ब्रेकिंग
रामगढ़ की बेटी महिमा को पत्रकारिता में अच्छा प्रदर्शन के लिए किया गया सम्मानित Bjp प्रत्याशी ढुल्लु महतो के समर्थन में विधायक सरयू राय के विरुद्ध गोलबंद हूआ झारखंड वैश्य समाज l हजारीबाग लोकसभा इंडिया प्रत्याशी जेपी पटेल ने किया मां छिनमस्तिका की पूजा अर्चना l गांजा तस्कर के साथ मोटासाइकिल चोर को रामगढ़ पुलिस ने किया गिरफ्तार स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l

कोल्हान में पांच जंगली हाथियों की मौ’ त l जिम्मेदार कौन?

घाटशिला : झारखंड में जंगली हाथियों की करंट लगकर लगातार हो रही मौत को लेकर अब सवाल खड़े होने लगे हैं। मंगलवार को घाटशिला मुसाबनी वन क्षेत्र अंतर्गत ऊपर बांध गांव में करंट लगने से एक साथ पांच हाथियों की मौत हो गई. बताया जाता है कि 33 हजार वोल्ट तार की चपेट आने से हुई पांचों हाथियों की मौत हुई है. ग्रामीणों ने इसकी सूचना वन विभाग को दे दी. घटना की जानकारी मिलते आसपास के ग्रामीणों की भीड़ घटनास्थल पर जुट गए।

हाथियों की मौत को लेकर इलाके के लोंगों ने कई सवाल भी खड़े किए हैं। लोगों का कहना है कि आखिर बिजली की करंट लगकर पांच हाथियों की मौत हो गई है। इसके लिए कोन जिम्मेदार है। जिला प्रशासन के साथ साथ बिजली विभाग और फारेस्ट डिपार्टमेंट के अधिकारी हाथियों की हुई मौत पर मंथन जरुर कर रहे हैं। लेकिन कई सवाल भी खड़े हो रहे हैं।
जानकारी के अनुसार जंगली हाथियों के इस झुंड में और भी हाथी हैं। इस तरह के अपने झुंड के हाथियों की मौत होने के बाद बचे हाथी जल्दी इलाके से बाहर नहीं जाते हैं। साथ ही साथ अपने साथियों के नजदीक आने की भी कोशिश करते हैं। ऐसे में डर इस बात का भी है कि कहीं और भी जंगली हाथी बिजली की करंट की चपेट में ना आ जाए।
हालांकि डीसी मंजुनाथ भजत्री ने तमाम अधिकारियों को इससे संबंधित दिशानिर्देश दे दिए है। बिजली के तारों को और ऊंचा करने के साथ साथ समुचित सुरक्ष व्यवस्था को दुरुस्त करने काभी निर्देश दिया है। बाकी जंगली हाथियों को उनके कॉरिडोर क्षेत्र में पहुंचाने की भी तैयारी की जा रही है।