Coronavirus: कोयलांचल में फैला कोरोना खौफ का वायरस, तीन चीनी इंजीनियर भेजे जाएंगे कोलकाता

yamaha

धनबाद। सिंदरी के एसीसी में काम कर रहे पांच चीनी नागरिक की कोरोना की जांच करायी जायेगी। इसके लिए डीसी अमित कुमार के निर्देश में सिविल सर्जन डॉ गोपाल दास ने कमेटी गठित की है। कमेटी के सदस्य बुधवार को एसीसी पहुंच कर मरीजों के बारे में जानकारी ली। सीएस ने बताया कि इन मरीजों में कोरोना के कोई लक्षण नहीं मिले हैं। विभाग ने पहले ही इन लोगों की निगरानी कर चुकी है। लेकिन एहतियात के तौर पर पांचों कर्मियों को टेस्ट कराना होगा। इसके लिए इन पांचों चीनी नागरिक को कोलकाता या पुणे भेजा जायेगा। रिपोर्ट में आने के बाद ही इन लोगों को आगे यहां रहने की अनुमति दी जायेगी।

डीसी को सौंपी रिपोर्ट 

टीम के सदस्यों ने डीसी को पांचों चीनी नागरिक के बारे में जानकारी दी। सीएस ने बताया कि दो नागरिक नवंबर से रह रहे हैं। दोनों ठीक है। तीन चीनी कर्मी कोलकाता में एक माह तक आश्योलेशन में रहे। इसके बाद तीनों दो मार्च को एसीसी पहुंचे। एसीसी की डॉ ज्योति ने कोलकाता के महामारी विशेषज्ञ से बातचीत की। बताया गया कि तीनों में कोई लक्षण नहीं है। हालांकि एहतियात के तौर पर तीनों की कोरोना की जांच की जायेगी।

एसीसी में मजदूरों में फैली अफवाह 

पांच चीनी मजदूरों की सूचना पर एसीसी व सिंदरी के आसपास के इलाकों में कोरोना को लेकर चर्चा हो रही है। कई लोग इसे लेकर अफवाह फैला रहे हैं। बुधवार को कई मजदूर चीनी कर्मियों से दूरी बनाने लगे हैं। सुबह में पांचों को कोरोना से संक्रमित होने की खबर थी। बाद में स्वास्थ्य विभाग की टीम जब पहुंची, तब पचा चला की महज अफवाह है।

निरसा के युवक की हुई जांच 

निरसा के संदिग्ध मरीज की जांच युवक की जांच बुधवार को रिम्स की करायी गयी। सुबह में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने एंबुलेंस का माध्यम से युवक को रांची रिम्स में जांच कराया। जांच के बाद युवक को वापस घर भेज दिया गया। सीएस ने बताया कि युवक के ब्लड सैंपल को पुणे स्थित वायरल लैबोटरी में भेजा गया है। फिलहाल युवक में कोई लक्षण नहीं मिला है। रिम्स से डॉक्टरों से भी बातचीत हुई है। हालांकि युवक को एक माह तक घर पर ही विभाग निगरानी शुरू कर दी गयी है। रिपोर्ट आने का इंतजार किया जा रहा है।

कतरास की छात्रा ठीक, निगरानी जारी 

सीएस ने बताया कि चीन के ग्वांझु से लौटने वाली कतरास की छात्रा ठीक है। हालांकि उसकी निगरानी की जा रही है। अभी तक छात्रा ने ऐसी कोई भी लक्षण नहीं बताया है। हालांकि संबंधित प्रभारी को निर्देश दिये गये है। यदि छात्रा ने बुखार-सर्दी की कोई शिकायत की तो उसका टेस्ट भी रिम्स में ले जाकर किया जायेगा।

धनबाद में कोरोना का कंफर्म कोई भी मरीज नहीं, अफवाह से बचें

सिविल सर्जन डॉ गोपाल दास ने बताया कि धनबाद में कोरोना वायरस से ग्रसित कोई मरीज नहीं है। एहतियात के तौर पर चीन से आने वाले लोगों की निगरानी रखी जा रही है। कोरोना को लेकर अफवाह पर ध्यान नहीं दें। उन्होंने कहा कि चीन से लौटकर आने वालों में एक कतरास की छात्रा और एक निरसा का कर्मी है। दोनों को हाउस सर्विलांस के तहत निगरानी की गई। दोनों में कोई लक्षण नहीं मिले हैं। निरसा के युवक की जांच रिम्स में करायी गयी है, उसे रिपोर्ट आने तक हाउस सर्विलांस में रखा गया है।

  • ये सावधानी बरतें
  • दिन में कम से कम पांच बार साबुन से हाथ धोएं
  • खाना खाने से पहले हाथ जरूर धोएं
  • आसपास के वातावरण को स्वच्छ रखें
  • शौच के बाद के बाद अच्छी तरह से साबुन से हाथ धोएं
  • जानवरों से दूरी बनाकर रखें
  • गंभीर या संक्रमित लोग मास्क का प्रयोग करें
  • कच्चा व अधपका मांस न खाएं
  • कच्चा अंडा खाने से परहेज करें
  • बुचड़खानों के पास न जाएं
  • खांसते समय मुुंह पर रुमाल रखें
  • पशुओं के बाजार में जाने से बचें
  • सार्वजनिक स्थानों पर नहीं थूकें
raja moter
Leave A Reply

Your email address will not be published.