Logo
ब्रेकिंग
स्वीप के तहत मतदाताओं को मतदान के प्रति जागरूक करने हेतु विभिन्न कार्यक्रमों का हुआ आयोजन। कांग्रेसी नेता बजरंग महतो ने किया जनसंपर्क, दर्जनों ने थामा कांग्रेस का दामन । माता वैष्णों देवी मंदिर का 32वां वार्षिकोत्सव भंडारा के साथ संपन्न युवक ने प्रेमिका के लवर को उतारा मौत के घाट, वारदात को अंजाम देकर कुएं में फेंकी लाश । 1932 खतियान राज्यपाल ने किया वापस, झामुमो में आक्रोश, किया विरोध, फूंका प्रधानमंत्री का पुतला । रामगढ़ विधानसभा उपनिर्वाचन 2023 के मद्देनजर उपायुक्त ने की प्रेस वार्ता कराटे बेल्ट ग्रेडेशन टेस्ट सह प्रशिक्षण शिविर में 150 कराटेकार शामिल, उत्कृष्ट प्रदर्शनकारी को मिला ... श्रीराम सेना के विशाल हिंदू सम्मेलन में राष्ट्रवादी प्रखर प्रवक्ता पुष्पेंद्र कुलश्रेष्ठ और अंतरराष्... भव्य कलश यात्रा के साथ माता वैष्णों देवी मंदिर का 32वां वार्षिकोत्सव शुरू रामगढ़ में मनाया गया 74 वां गणतंत्र दिवस, विभिन्न कार्यालयों द्वारा निकाली गई झांकी

छत्तीसगढ़: 1 लाख रुपये नहीं दिए तो पहले की पिटाई और फिर दे दिया तीन तलाक

रायपुर। छत्तसीगढ़ में तीन तलाक का एक नया मामला सामने आया है। करिया जिले के केल्हारी में रहने वाली एक मुस्लिम महिला का आरोप है कि एक लाख रुपये नहीं दे पाने के चलते उसके पति ने उसे तलाक दे दिया। महिला ने बताया, “उसने (पति) अपना बिजनेस शुरू करने के लिए एक लाख रुपए की मांग की थी। जब मैंने कहा कि मेरे माता-पिता गरीब हैं और वो इतना पैसा नहीं दे पाएंगे तो उसने मुझे मारा और तीन तलाक दे दिया। इसके अलावा उसने मुझे धमकी भी दी कि अगर मैंने पुलिस में शिकायत की तो वो मुझे जान से मार देगा।”

केल्हारी पुलिस स्टेशन अधिकारी जनक राम कुर्रे ने बताया कि हमने IPC सेक्शन की विभिन्न धाराओं और मुस्लिम वुमेन (प्रोटेक्शन ऑफ राइट ऑन मैरिज) एक्ट के अंतर्गत एफआइआर दर्ज कर ली है। महिला के दो देवरों को भी हमने गिरफ्तार किया है। वहीं उसके पति समेत तीन आरोपी फरार हैं।

इसी तरह कुछ दिन पहले उत्तराखंड के रुड़की में भी तीन तलाक का एक मामला सामने आया था। जिसमें एक महिला की उसके पति ने भाई के सामने पिटाई की और फिर तीन तलाक दे दिया। देवर के दुष्कर्म और पति द्वारा पिटाई की सूचना पर भाई अपनी बहन के ससुराल आया था। यह मामला सिविल लाइंस इलाके का है, जहां एक गांव निवासी युवती का निकाह सिविल लाइंस क्षेत्र की एक कॉलौनी में रहने वाले एक युवक से 4 साल पहले हुआ था।

शादी के बाद पति का कहना था कि वह पत्नी को पसंद नहीं करता है और परिवारवालों ने जबरदस्ती उसकी शादी करवाई है। वहीं महिला का आरोप है कि 2017 में पति ने उसकी पिटाई की। इसके बाद दोनों परिवार और रिश्तेदारों ने सुलह करा दी। लेकिन इसके बाद भी उत्पीड़न जारी रहा। उसका आरोप है कि इसी साल 27 जनवरी को उसका देवर कमरे में आया और विवाहिता से दुष्कर्म का प्रयास किया।

nanhe kadam hide