छत्तीसगढ़: 1 लाख रुपये नहीं दिए तो पहले की पिटाई और फिर दे दिया तीन तलाक

yamaha

रायपुर। छत्तसीगढ़ में तीन तलाक का एक नया मामला सामने आया है। करिया जिले के केल्हारी में रहने वाली एक मुस्लिम महिला का आरोप है कि एक लाख रुपये नहीं दे पाने के चलते उसके पति ने उसे तलाक दे दिया। महिला ने बताया, “उसने (पति) अपना बिजनेस शुरू करने के लिए एक लाख रुपए की मांग की थी। जब मैंने कहा कि मेरे माता-पिता गरीब हैं और वो इतना पैसा नहीं दे पाएंगे तो उसने मुझे मारा और तीन तलाक दे दिया। इसके अलावा उसने मुझे धमकी भी दी कि अगर मैंने पुलिस में शिकायत की तो वो मुझे जान से मार देगा।”

केल्हारी पुलिस स्टेशन अधिकारी जनक राम कुर्रे ने बताया कि हमने IPC सेक्शन की विभिन्न धाराओं और मुस्लिम वुमेन (प्रोटेक्शन ऑफ राइट ऑन मैरिज) एक्ट के अंतर्गत एफआइआर दर्ज कर ली है। महिला के दो देवरों को भी हमने गिरफ्तार किया है। वहीं उसके पति समेत तीन आरोपी फरार हैं।

इसी तरह कुछ दिन पहले उत्तराखंड के रुड़की में भी तीन तलाक का एक मामला सामने आया था। जिसमें एक महिला की उसके पति ने भाई के सामने पिटाई की और फिर तीन तलाक दे दिया। देवर के दुष्कर्म और पति द्वारा पिटाई की सूचना पर भाई अपनी बहन के ससुराल आया था। यह मामला सिविल लाइंस इलाके का है, जहां एक गांव निवासी युवती का निकाह सिविल लाइंस क्षेत्र की एक कॉलौनी में रहने वाले एक युवक से 4 साल पहले हुआ था।

शादी के बाद पति का कहना था कि वह पत्नी को पसंद नहीं करता है और परिवारवालों ने जबरदस्ती उसकी शादी करवाई है। वहीं महिला का आरोप है कि 2017 में पति ने उसकी पिटाई की। इसके बाद दोनों परिवार और रिश्तेदारों ने सुलह करा दी। लेकिन इसके बाद भी उत्पीड़न जारी रहा। उसका आरोप है कि इसी साल 27 जनवरी को उसका देवर कमरे में आया और विवाहिता से दुष्कर्म का प्रयास किया।

raja moter
Leave A Reply

Your email address will not be published.