Logo
ब्रेकिंग
माता वैष्णों देवी मंदिर का 32वां वार्षिकोत्सव भंडारा के साथ संपन्न युवक ने प्रेमिका के लवर को उतारा मौत के घाट, वारदात को अंजाम देकर कुएं में फेंकी लाश । 1932 खतियान राज्यपाल ने किया वापस, झामुमो में आक्रोश, किया विरोध, फूंका प्रधानमंत्री का पुतला । रामगढ़ विधानसभा उपनिर्वाचन 2023 के मद्देनजर उपायुक्त ने की प्रेस वार्ता कराटे बेल्ट ग्रेडेशन टेस्ट सह प्रशिक्षण शिविर में 150 कराटेकार शामिल, उत्कृष्ट प्रदर्शनकारी को मिला ... श्रीराम सेना के विशाल हिंदू सम्मेलन में राष्ट्रवादी प्रखर प्रवक्ता पुष्पेंद्र कुलश्रेष्ठ और अंतरराष्... भव्य कलश यात्रा के साथ माता वैष्णों देवी मंदिर का 32वां वार्षिकोत्सव शुरू रामगढ़ में मनाया गया 74 वां गणतंत्र दिवस, विभिन्न कार्यालयों द्वारा निकाली गई झांकी माँ की ममता से दूर जेल में बंद पूर्व विधायक मामता देवी का दूधमुहा बच्चा बीमारी की गिरफ्त में । माता वैष्णों देवी मंदिर के 32वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 26 को

क्यों भड़का स्पीकर बिड़ला का गुस्सा? दे डाली चेतावनी- निलंबित कर दूंगा

नई दिल्लीः लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने सोमवार को सदन में हुई धक्कामुक्की के बाद आज सख्त रूख अपनाते हुए कहा कि सत्तापक्ष हो या विपक्ष कोई भी सदस्य इधर से उधर किसी की सीट पर नहीं जायेगा और इसका उल्लंघन करने वाले को पूरे सत्र के लिए निलंबित कर दिया जाएगा।

सदन की कार्यवाही ग्यारह बजे शुरू होते ही दिल्ली में हिंसा पर चर्चा कराने की मांग करते हुए विपक्षी सदस्य हंगामा करने लगे तभी बिरला ने कहा कि सोमवार की घटना के बाद सर्वदलीय बैठक में यह निर्णय लिया गया कि सत्ता पक्ष या विपक्ष की ओर से कोई भी सदस्य इधर से उधर नहीं जाएंगे और अब जो भी ऐसा करेगा उसे पूरे सत्र के लिए निलंबित कर दिया जाएगा।

सोमवार को प्रत्यक्ष कर विवाद से विश्वास विधेयक, 2020 पर चर्चा की शुरुआत के दौरान ही सदस्यों के बीच तीखी नोंकझोंक और कांग्रेस तथा भारतीय जनता पार्टी के सदस्यों में हाथापाई हाथापाई हो गई थी। बिरला ने कहा था ‘‘हम सबका प्रयास होना चाहिये कि संसद की मार्यादा बनाए रखें। वरिष्ठ सदस्य हस्तक्षेप कर सदन की गरिमा बनाए रखें। सदन में जो हुआ उससे मैं व्यक्तिगत रूप से बहुत दु:खी हूँ। मैं ऐसी परिस्थिति में सदन नहीं संचालित करना चाहता। सब मिलकर विचार कर लें, एक मर्यादा बन जाए।”

बिरला ने सदस्यों को सदन में प्लेकार्ड और बैनर लेकर नहीं आने की हिदायत दी। उन्होंने सख्त लहजे में कहा कि आप लोग तय कर लें कि सदन अब प्लेकार्ड से चलेगा और अपने अपने दल की ओर से घोषणा कर दें कि सदन को प्लेकार्ड से चलाया जाएगा। उसके बाद हंगामा बढ गया। उल्लेखनीय है कि दिल्ली में हिंसा पर सदन में चर्चा की मांग कर रहे विपक्ष के हंगामे के कारण दो दिन से संसद में कोई कामकाज नहीं हुआ है।

nanhe kadam hide