फरार विधायक ढुलू के निजी अंगरक्षक सोनू को पुलिस ने दबोचा, समर्थकों पर पुलिसिया सितम जारी

धनबाद। गिरफ्तारी के डर से बाघमारा के विधायक ढुलू महतो भागे हुए हैं। धनबाद पुलिस 19 फरवरी से ही उनके पीछे पड़ी है। विधायक कहां छिपे हुए हैं इसका पता धनबाद पुलिस लगाने में अब तक विफल रही है। दूसरी तरफ विधायक के हाथ नहीं आने पर पुलिस उनके समर्थकों को भी नहीं छोड़ रही है। एक-एक उनके घरों की तलाशी ली जा रही है। पुलिस को लग रहा है कि विधायक किसी न किसी समर्थक के घर छुपकर बैठे होंगे।बाघमारा पुलिस ने विधायक ढुलू महतो के निजी सुरक्षा गार्ड  सोनू शर्मा उर्फ सोनू गोस्वामी को सोमवार को गिरफ्तार किया। इस मामले उच्चन्यायालय के निर्देश पर किरण महतो के शिकायत पर विधायक के छः  समर्थकों पर बाघमारा थाना में मामला दर्ज हुआ था जिसमे सोनू नामजद आरोपी है।

विधायक की तलाश में 29 ठिकानों पर छापा

बाघमारा अनुमंडल के पांच थाना क्षेत्र में विधायक ढुलू महतो के करीबी लोगों के 29 ठिकानों पर शनिवार को रातभर पुलिस ने छापेमारी अभियान चलाया। चिटाही निवासी सनोज पांडेय तथा भोला राय को बरोरा पुलिस ने एक पुराने मामले में गिरफ्तार कर रविवार को न्यायालय के सामने प्रस्तुत किया, जहां से न्यायिक हिरासत में लेकर जेल भेज दिया। वहीं विधायक के गाड़ी का चालक बरोरा निवासी रामेश्वर महतो, सोनारडीह निवासी सोनू गोस्वामी तथा मंदरा निवासी विजय यादव को बरोरा पुलिस थाना में रखकर पूछताछ की जा रही है। इस अभियान में डीएसपी नितिन खंडेलवाल, इंस्पेक्टर सुभाष सिंह सहित बरोरा, मधुबन, कतरास, सोनारडीह, बाघमारा की पुलिस शामिल थी। पुलिस ने ऐसे कई धनाढ्य लोगों के घरों पर भी दस्तक दी जो लोग किसी न किसी रूप से विधायक के संपर्क में रहा करते थे। कई आउटसोर्सिंग व ट्रांसपोर्ट कर्मियों के घरों में भी छापेमारी की है। इसमें राजू शर्मा, शम्मी शर्मा, रामेश्वर, अशोक कुमार, गंगा गुप्ता, राजेश गुप्ता आदि शामिल हैं। वहीं कोयला व्यवसाय से जुड़े बाघमारा बाजार के आठ तथा भीमकनाली व हरिणा में एक-एक लोगों के यहां भी छापामारी की गई है।

इस संबंध में डीएसपी नितिन खंडेलवाल ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी कि विधायक ढुलू महतो इसी इलाके में अपने समर्थकों के घर पर छुपे हुए हैं। विधायक की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। विधायक को न्यायालय के आदेश का सम्मान करते हुए आत्मसमर्पण कर देनी चाहिए। अगर विधयक आत्मसमर्पण नहीं करते हैं तो पुलिस उन्हें गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी अभियान जारी रखेगी। पुलिस की इस कार्रवाई के बाद क्षेत्र में विधायक सर्मथकों में भय का माहौल है।

Whats App