Logo
ब्रेकिंग
Bjp प्रत्याशी ढुल्लु महतो के समर्थन में विधायक सरयू राय के विरुद्ध गोलबंद हूआ झारखंड वैश्य समाज l हजारीबाग लोकसभा इंडिया प्रत्याशी जेपी पटेल ने किया मां छिनमस्तिका की पूजा अर्चना l गांजा तस्कर के साथ मोटासाइकिल चोर को रामगढ़ पुलिस ने किया गिरफ्तार स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार

दिव्यांग विवेक से बोले PM मोदी- एक सेल्फी हो जाए दोस्त, Whatsapp पर भेज देना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को प्रयागराज में दिव्यांगों और वृद्धों के सम्मान में उपकरण वितरण शिविर (Equipment delivery camp) में दृष्टिबाधित दिव्यांग (Visually impaired) विवेक को स्मार्ट मोबाइल फोन देने के बाद कहा‘‘एक सेल्फी हो जाए दोस्त।” इतना ही नहीं पीएम मोदी ने सेल्फी लेने के बाद कहा कि सुरक्षाकर्मियों के माध्यम से इस सेल्फी को व्हॉट्सएप (Whatsapp) पर भेज देना। प्रधानमंत्री के हाथों शनिवार को स्मार्ट मोबाइल फोन मिलने के बाद विवेक की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। इतना ही नहीं मोदी के साथ एक सेल्फी लेने की बात से वह बेहद खुश हो गया।

भले ही विवेक देख नहीं सकता हो लेकिन उसने कहा कि प्रधानमंत्री से यह सम्मान पाना गौरवान्वित है। दिव्यांग विवेक मणि त्रिपाठी को स्मार्ट मोबाइल फोन देने के बाद कुछ लम्हा ठहर-सा गया। यह देखकर मोदी ने उनसे कहा कि इस स्मार्ट मोबाइल फोन एक सेल्फी तो बनती है, दोस्त। इस पर विवेक ने तुरंत मोबाइल फोन निकाला और उनके साथ सेल्फी लेकर इस पल को हमेशा के लिए संजो लिया।

विवेक ने बताया यह पल भले ही देख नहीं पाया लेकिन इसे महसूस जरूर किया है। यह हमारे ही नहीं सभी दृष्टिबाधित साथियों के लिए गौरव का पल है। वह इस सेल्फी को जीवन भर संजो के रखेंगे। यह उनके जीवन की एक उपलब्धि है।

विवेक बचपन से दृष्टिबाधित हैं और वह डिप्लोमा इन एजुकेशन (D.ed) कोर्स की पढ़ाई कर रहे हैं। दृष्टिबाधित होने के बाद भी वह मोबाइल धड़ल्ले से चलाते हैं। उन्होंने अपने मोबाइल में टॉकबैक एप डाउनलोड किया है, जिससे अपना काम कर लेते हैं। वह दृष्टिबाधित साथियों को इसका ज्ञान देते हैं। वह मोबाइल पर अपनी पढ़ाई भी कर लेते हैं।