Logo
ब्रेकिंग
माता वैष्णों देवी मंदिर का 32वां वार्षिकोत्सव भंडारा के साथ संपन्न युवक ने प्रेमिका के लवर को उतारा मौत के घाट, वारदात को अंजाम देकर कुएं में फेंकी लाश । 1932 खतियान राज्यपाल ने किया वापस, झामुमो में आक्रोश, किया विरोध, फूंका प्रधानमंत्री का पुतला । रामगढ़ विधानसभा उपनिर्वाचन 2023 के मद्देनजर उपायुक्त ने की प्रेस वार्ता कराटे बेल्ट ग्रेडेशन टेस्ट सह प्रशिक्षण शिविर में 150 कराटेकार शामिल, उत्कृष्ट प्रदर्शनकारी को मिला ... श्रीराम सेना के विशाल हिंदू सम्मेलन में राष्ट्रवादी प्रखर प्रवक्ता पुष्पेंद्र कुलश्रेष्ठ और अंतरराष्... भव्य कलश यात्रा के साथ माता वैष्णों देवी मंदिर का 32वां वार्षिकोत्सव शुरू रामगढ़ में मनाया गया 74 वां गणतंत्र दिवस, विभिन्न कार्यालयों द्वारा निकाली गई झांकी माँ की ममता से दूर जेल में बंद पूर्व विधायक मामता देवी का दूधमुहा बच्चा बीमारी की गिरफ्त में । माता वैष्णों देवी मंदिर के 32वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 26 को

सोनभद्र खदान हादसाः मरने वाले मजदूरों की संख्या हुई 5, CM ने 4 लाख मुआवजा देने का किया ऐलान

सोनभद्रः उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले के ओबरा खनन क्षेत्र स्थित एक पत्थर की खदान खिसकने से हुए हादसे में मरने वाले मजदूरों की संख्या 5 हो गई है। आज सुबह 3 और मजदूरों का शव बरामद कर लिया गया है। बता दें कि इसके पहले शनिवार को 2 और मजदूरों को मृत अवस्था में निकाला जा चुका है। हादसे के बाद से ही मलबा हटाने का काम लगातार तेजी से चल रहा है।
PunjabKesari
CM ने मृतक के परिजनों को 4-4 लाख रुपये मुआवजा देने का किया ऐलान
खनन क्षेत्र स्थित एक पत्थर की खदान में हुए हादसे में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शोक व्यक्त किया। उन्होंने मृतक के परिजनों को 4-4 लाख रुपये  व घायलों को 50-50 हजार रूपए मुआवजा देने का ऐलान किया है। साथ ही CM ने घटना का संज्ञान लेते हुए वरिष्ठ अधिकारियों को मौके पर पहुंचकर राहत एवं बचाव कार्य तेज करने के निर्देश भी दिए हैं। उन्होंने घायल मजदूरों के इलाज मे किसी भी प्रकार की लापरवाही न करने का आदेश दिया है।

खदान में कई मजदूरों के दबे होने की आशंकाः DM
वहीं दुर्घटनास्थल पर पहुंचे DM ने बताया कि ‘खदान में अभी कई और मजदूरों के दबे होने की आशंका जताई जा रही है। पोकलेन मशीन आदि की मदद से मलवा हटाने का कार्य शुरू कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि बचाव कार्य में राष्ट्रीय आपदा राहत बल की भी मदद ली जा रही है। वहीं सुरक्षा के बीच उसे भी खंगाल कर अन्‍य मजदूरों के वहां होने की संभावना की पड़ताल करने के बाद ही राहत और बचाव कार्य कर रही टीम हटेगी।

nanhe kadam hide