Logo

दिल्ली दंगों पर बोले अमर्त्य सेन : गहरी चिंता का विषय

बोलपुरः दिल्ली में हाल में हुई सांप्रदायिक हिंसा पर चिंता व्यक्त करते हुए नोबेल पुरस्कार विजेता अमर्त्य सेन ने शनिवार को कहा कि भारत एक धर्मनिरपेक्ष देश है और लोगों को धार्मिक आधार पर बांटा नहीं जा सकता। उन्होंने संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि यह पता लगाया जाना चाहिए कि क्या पुलिस अक्षम है या हिंसा से निपटने के लिए सरकार की तरफ से प्रयासों में कमी थी। प्रतीचि ट्रस्ट द्वारा यहां आयोजित एक कार्यक्रम में सेन ने कहा, “मैं बहुत चिंतित हूं कि यह जहां हुई वह देश की राजधानी है और केंद्र द्वारा शासित है।

अगर अल्पसंख्यकों को वहां प्रताड़ित किया जाता है और पुलिस ‍विफल या अपना कर्तव्य निभाने में नाकाम रहती है तो यह गंभीर चिंता का विषय है।” उन्होंने कहा, “ऐसी खबर है कि जो लोग मारे गए या जिन्हें प्रताड़ित किया गया उनमें अधिकतर मुसलमान हैं। भारत एक धर्मनिरपेक्ष देश है, हम हिंदू और मुसलमानों को बांट नहीं सकते। एक भारतीय नागरिक के तौर पर मैं चिंता होने के अलावा कुछ और नहीं कर सकता।”

सेन ने हालांकि कहा कि वह पूरे मामले का विश्लेषण किए बगैर कोई निष्कर्ष नहीं निकाल सकते। उन्होंने कहा कि न्यायमूर्ति एस मुरलीधर का दिल्ली उच्च न्यायालय से पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय पर सवाल उठना स्वाभाविक है। सेन ने संवाददाताओं से कहा, “मैं व्यक्तिगत रूप से उन्हें जानता हूं। सवाल उठने स्वाभाविक हैं लेकिन मैं कोई फैसला नहीं सुना सकता।”

nanhe kadam hide
ब्रेकिंग
रामगढ़ के बिजुलिया में दो बाइक की भीषण टक्कर में तीन युवक गंभीर रूप से घायल। IPL गोलीकांड मामले में रामगढ़ की विधायक ममता देवी दोषी करार, भेजी गयीं जेल रामगढ़ के समाजसेवी और व्यवसायी दिव्यांशु साहा को अपराधियों ने मारी गोली, प्राथमिक उपचार के बाद रांची... रामगढ़ छावनी परिषद क्षेत्र में बेसमेंट के व्यावसायिक उपयोग मामले में झारखंड हाईकोर्ट ने दिया ये आदेश ठंड के मद्देनजर उपायुक्त ने किया रामगढ़ शहर के विभिन्न क्षेत्रों का निरीक्षण । जिले में चल रहे विकास कार्यों की उप विकास आयुक्त ने की समीक्षा। अवैध खनन के विरुद्ध जिला प्रशासन द्वारा की गई कार्रवाई । एड्स दिवस एवं टीबी जागरूकता के तहत हुआ कार्यक्रम का आयोजन । 02 करोड़ 48 लाख की लागत से 64 बेड के छात्रावास और कॉलेज भवन के मरम्मती कार्य का हुआ भूमि पूजन रामगढ़ छावनी सीइओ पर अधिनियम की धज्जियां उड़ाने का पूर्व विधायक शंकर चौधरी ने लगाया आरोप ।