दिल्ली में BJP ने 8 सीटें जीतीं, उनमें से 5 में हुए सर्वाधिक दंगे

नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा चुनाव के बाद दिल्ली में हुई अभूतपूर्व हिंसा की घटनाओं को करीब से देखने पर एक बात सामने आ रही है कि ये वे इलाके हैं जहां भारतीय जनता पार्टी जीतने में सफल रही। उत्तर-पूर्वी दिल्ली में भाजपा ने 8 में से जो 5 सीटें जीती हैं, वहां सर्वाधिक दंगे हुए। दिल्ली की उत्तर-पूर्व लोकसभा सीट से भाजपा के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी सांसद हैं। जानकारों का कहना है कि विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा नेताओं की ओर से दिए गए घृणापूर्ण बयानों के कारण यह ङ्क्षहसा की ङ्क्षचगारी जल गई थी जो आखिर में आग में बदल गई। भाजपा नेता कपिल मिश्रा के बयान ने इस आग में घी डालने का काम किया।

दंगों के दौरान हथियारबंद भीड़ ने जाफराबाद, मौजपुर, घोंडा, बाबरपुर, गोकुलपुरी, यमुना विहार और भजनपुरा में लोगों के जान-माल को निशाना बनाया। सबसे बुरी तरह प्रभावित हुए इलाके करावल नगर, घोंडा, रोहतास नगर और गांधी नगर विधानसभा क्षेत्र हैं। भाजपा ने उत्तर-पूर्व में घोंडा, करावल नगर, गांधी नगर, रोहतास नगर और विश्वास नगर की सीटें जीती हैं। इन इलाकों में पूर्वांचली वोटर्स की अच्छी-खासी तादाद है। मौजपुर का इलाका बाबरपुर विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आता है। यहां के विधायक आप के गोपाल राय हैं। भाजपा ने उत्तर-पूर्व की जो 3 सीटें जीती हैं, वे हैं दक्षिण-पूर्व में बदरपुर, उत्तर-पश्चिम की रोहिणी और उत्तर-पूर्व दिल्ली से लगा लक्ष्मी नगर।
मनोज तिवारी बोले-हेट स्पीच देने वालों को चुनाव लडऩे से रोका जाए
दिल्ली भाजपा प्रमुख मनोज तिवारी ने कहा कि भड़काऊ भाषण देने वाले नेताओं को चुनाव लडऩे से रोक दिया जाना चाहिए। जब उनसे पूछा गया कि कपिल मिश्रा जैसे नेताओं को भाजपा ने टिकट क्यों दिया, तिवारी ने कहा कि हम तो चाहते हैं कि ऐसे हेट स्पीच वालों को स्थायी रूप से हटा दिया जाए। उन्होंने कहा कि इस तरह की व्यवस्था का मैं एक व्यक्ति के रूप में  समर्थन करूंगा।

पार्षद के आका को  मिले सजा; आई.बी. अधिकारी को 400 बार चाकुओं से गोदा
मनोज तिवारी ने ट्वीट कर  कहा कि पार्षद ताहिर के साथ-साथ उसके आका को भी कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए। धार्मिक असहिष्णुता ने आप को कितना गिरा दिया कि एक अफसर को 400 बार चाकू से गोदा गया।

Whats App