Logo
ब्रेकिंग
स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न ।

भारत ने अमेरिका की कोरोना से निपटने की शंका की खारिज, केरल में सभी मरीज हुए ठीक

नई दिल्लीः दुनिया भर में कोरोना वायरस का कहर बढ़ता जा रहा है। भारत ने  इस वायरस प्रकोप से निपटने की अपनी क्षमता पर अमेरिकी खुफिया आशंकाओं को खारिज कर दिया है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार कोरोनो  के वैश्विक प्रसार और सरकारों की प्रतिक्रिया की क्षमता पर निगरानी रखने वाली अमेरिकी खुफिया एजेंसियों ने भारत के व्यापक प्रकोप से निपटने की क्षमता के बारे में चिंताओं को चिह्नित किया है । भारत के स्वास्थ्य मंत्रालय ने हालांकि इस मामले में कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है लेकिन कुछ अधिकारियों ने अमेरिका की इस शंका को  खारिज करते हुए कहा कि भारत हर आपात  स्थिति से लड़ने लिए तैयार है।

कोरोना से  निपटने के लिए चीन और जापान के एक क्रूज में फंसे भारतीयों को भी वापस लाया जा चुका है। और कोरोना वायरस के फैलने के बाद भारत आए तीन केरल के छात्र भी ठीक हो चुके हैं। इनमें इस संक्रमण से जुड़े लक्षण पाए गए थे, जिसके बाद उन्हें अलग रखकर उनका उपचार किया गया था। उधर, केरल की स्वास्थ्य मंत्री के.के. शैलजा ने शुक्रवार को जानकारी दी कि हमें कोरोना वायरस से निपटने के पहले पड़ाव में हमें सफलता मिली है। तीन छात्र जिनमें कोरोनावायरस के लक्षण पाए गए थे उन्हें पृथक रखा गया था उनकी हालत में सुधार है और वह बिल्कुल ठीक हैं। शैलजा ने बताया कि कुल 3,500 लोग क्वेरन्टाइन में थे जब इसकी 28 दिन की अवधि समाप्त हो गई, तब हमने उन्हें घर भेज दिया, अब 135 लोग घर में ही पृथक रूप से रह रहे हैं।

एक समाचार रिपोर्ट ने शुक्रवार को अधिकारियों के हवाले से कहा कि कोरोना का प्रकोप स्वास्थ्य सेवाओं को प्रभावित कर सकता है। जबकि भारत में कुछ ही ज्ञात मामले हैं। समाचार एजेंसी रायटर ने एक अमेरिकी खुफिया अधिकारी के हवाले से कहा कि भारत की घनी आबादी में कोरोना  फैलने की संभावना है जो गंभीर चिंता का विषय है।  अमेरिकी खुफिया अधिकारी के अनुसार  कोरोना से निपटने की भारत की क्षमता पर सवाल उठाए गए हैं जिसे भारत ने सिरे से खारिज कर दिया है।