Logo
ब्रेकिंग
स्वीप के तहत मतदाताओं को मतदान के प्रति जागरूक करने हेतु विभिन्न कार्यक्रमों का हुआ आयोजन। कांग्रेसी नेता बजरंग महतो ने किया जनसंपर्क, दर्जनों ने थामा कांग्रेस का दामन । माता वैष्णों देवी मंदिर का 32वां वार्षिकोत्सव भंडारा के साथ संपन्न युवक ने प्रेमिका के लवर को उतारा मौत के घाट, वारदात को अंजाम देकर कुएं में फेंकी लाश । 1932 खतियान राज्यपाल ने किया वापस, झामुमो में आक्रोश, किया विरोध, फूंका प्रधानमंत्री का पुतला । रामगढ़ विधानसभा उपनिर्वाचन 2023 के मद्देनजर उपायुक्त ने की प्रेस वार्ता कराटे बेल्ट ग्रेडेशन टेस्ट सह प्रशिक्षण शिविर में 150 कराटेकार शामिल, उत्कृष्ट प्रदर्शनकारी को मिला ... श्रीराम सेना के विशाल हिंदू सम्मेलन में राष्ट्रवादी प्रखर प्रवक्ता पुष्पेंद्र कुलश्रेष्ठ और अंतरराष्... भव्य कलश यात्रा के साथ माता वैष्णों देवी मंदिर का 32वां वार्षिकोत्सव शुरू रामगढ़ में मनाया गया 74 वां गणतंत्र दिवस, विभिन्न कार्यालयों द्वारा निकाली गई झांकी

सोनिया के ‘राजधर्म’ बयान पर भाजपा का पलटवार, कहा- लोगों को भड़काना बंद करे कांग्रेस

नई दिल्लीः दिल्ली धीरे-धीरे सामान्य हो रही है और साथ राजनीतिक दलों की बयानबाजी शुरू हो गई है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के बयान पर भाजपा ने पलटवार किया है। शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि कांग्रेस पार्टी राजधर्म के नाम पर लोगों को भड़काने का काम न करे। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कांग्रेस हमें राजधर्म न सिखाए। रविशंकर प्रसाद ने कहा कि  सोनिया गांधी ने रामलीला मैदान में भड़काऊ बयान दिए थे। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि अफगानिस्तान, पाकिस्तान और बांग्लादेश से आए अल्पसंख्यकों को लेकर पार्टी का एक स्टैंड रहा है।

अशोक गहलोत, शिवराज पाटिल ने भी तब इसकी मांग की थी। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि आपने इस मुद्दे को उठाया था लेकिन इसेे पूरा हमने किया है। प्रसाद ने कहा कि आपकी ही सरकार थी जिसने 2010 में NPR का नोटिफिकेशन जारी किया, अगर आप करें तो ठीक लेकिन हम करें तो आप लोगों को भड़काना शुरू कर देते हैं। रविशंकर प्रसाद ने शाहीन बाग पर कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ बच्चों को भड़काया जा रहा है, शांति बहाली की अपील की जगह कांग्रेस इस मामले पर राजनीति कर रही है।

बता दें कि गुरुवार को सोनिया गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस शिष्टमंडल ने  राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की थी और इस दौरान ज्ञापन सौंपते हुए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के इस्तीफे की मांग की थी और केंद्र सरकार को उसका राजधर्म याद दिलाने को कहा था।

nanhe kadam hide