Logo
ब्रेकिंग
माता वैष्णों देवी मंदिर का 32वां वार्षिकोत्सव भंडारा के साथ संपन्न युवक ने प्रेमिका के लवर को उतारा मौत के घाट, वारदात को अंजाम देकर कुएं में फेंकी लाश । 1932 खतियान राज्यपाल ने किया वापस, झामुमो में आक्रोश, किया विरोध, फूंका प्रधानमंत्री का पुतला । रामगढ़ विधानसभा उपनिर्वाचन 2023 के मद्देनजर उपायुक्त ने की प्रेस वार्ता कराटे बेल्ट ग्रेडेशन टेस्ट सह प्रशिक्षण शिविर में 150 कराटेकार शामिल, उत्कृष्ट प्रदर्शनकारी को मिला ... श्रीराम सेना के विशाल हिंदू सम्मेलन में राष्ट्रवादी प्रखर प्रवक्ता पुष्पेंद्र कुलश्रेष्ठ और अंतरराष्... भव्य कलश यात्रा के साथ माता वैष्णों देवी मंदिर का 32वां वार्षिकोत्सव शुरू रामगढ़ में मनाया गया 74 वां गणतंत्र दिवस, विभिन्न कार्यालयों द्वारा निकाली गई झांकी माँ की ममता से दूर जेल में बंद पूर्व विधायक मामता देवी का दूधमुहा बच्चा बीमारी की गिरफ्त में । माता वैष्णों देवी मंदिर के 32वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 26 को

दिल्ली हिंसा: मायावती ने राष्ट्रपति को लिखा खत, बीजेपी व पुलिस प्रशासन पर साधा निशाना

लखनऊ: दिल्ली हिंसा को लेकर बसपा सुप्रीमो मायावती ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को खत लिखा है। जिसमें उन्होंने पीड़ितों को हर संभव मदद के लिए अपील की है।

मायावती ने कहा, ‘‘महामहिम आपको चिट्ठी लिखने का एक खास मकसद ये है कि दिल्ली दंगों में जिन लोगों को जानी-माली नुकसान हुआ है तथा जो लोग घायल हुए हैं उन्हें हरसंभव सहायता प्रदान करने के लिए आप केंद्र और दिल्ली सरकार को निर्देशित करें, ताकि यहां दंगों में पीड़ित व प्रभावित लोगों को दिन-प्रतिदिन की जिंदगी की जरूरतों के लिए दर-दर भटकने की बुरी नौबत से बचाया जा सके।’’
PunjabKesari
बीजेपी पर साधा निशाना
मायावती ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि पूरे देश ने देखा और महसूस भी किया कि बीजेपी व इनकी सरकार अपनी कानूनी व संवैधानिक जिम्मेदारी को निभाने में काफी हद तक विफल ही रही है। जिसके फलस्वरूप दिल्ली में अबतक 3 दर्जन से ज्यादा लोगों की जानें चली गई हैं।

दंगे की जांच उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश से हाे
मायावती ने दंगे की जांच उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश से कराने की मांग की है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को भेजे पत्र में मायावती ने कहा है कि दिल्ली दंगे में बड़े पैमाने पर जान माल की हानि हुई है । यह भी सच है कि दिल्ली 1984 जैसे दंगे से बच गई। इसकी जांच उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश की निगरानी में कराई जानी चाहिये ताकि इसका कोई नतीजा निकल सके और जनता को यह लीपापोती नहीं लगे ।

दंगा बहुत की दुर्भाग्यपूर्ण
मायावती ने कहा कि दिल्ली में हुआ दंगा बहुत की दुर्भाग्यपूर्ण है जिसमें पुलिस और खुफिया विभाग की नाकामी साफ दिखाई देती है । उन्होंने राष्ट्रपति से आग्रह किया है कि दंगे में जिन लोगों को जान माल का नुकसान हुआ है उसे केंद्र और दिल्ली सरकार से उचित मुआवजा दिलाया जाय । उन लोगों के खिलाफ कड़ी कारर्वाई की जानी चाहिये जो इसके जिम्मेवार हैं ।

nanhe kadam hide