Logo
ब्रेकिंग
भव्य कलश यात्रा के साथ माता वैष्णों देवी मंदिर का 32वां वार्षिकोत्सव शुरू रामगढ़ में मनाया गया 74 वां गणतंत्र दिवस, विभिन्न कार्यालयों द्वारा निकाली गई झांकी माँ की ममता से दूर जेल में बंद पूर्व विधायक मामता देवी का दूधमुहा बच्चा बीमारी की गिरफ्त में । माता वैष्णों देवी मंदिर के 32वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 26 को सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर याद किए गए नेताजी, रामगढ़ से जुड़ा है नेताजी के कई लम्हो का नाता । स्वीप के तहत जिला प्रशासन एकादश एवं दिव्यांग एकादश के बीच हुआ क्रिकेट मैच का आयोजन । नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती एवं पराक्रम दिवस के अवसर पर माल्यार्पण कार्यक्रम का हुआ आयोजन । रामप्रसाद चंद्रभान सरस्वती विद्या मंदिर में संस्कृति ज्ञान परीक्षा का आयोजन। मेदांता रांची द्वारा अधिवक्ता संघ परिसर में लगाया गया निशुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर । रामगढ़ विधानसभा उपचुनाव को लेकर कांग्रेस के पदाधिकारियों की हुई बैठक ।

Haryana Budget 2020: दोपहर 12 बजे पेश होगा बजट, किसानों को मिल सकती है सौगातें

चंडीगढ़(धरणी)-  हरियाणा सरकार आज  राज्य का बजट पेश करने जा रही है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर प्रश्नकाल के बाद दोपहर 12 बजे बजट पेश करेंगे। इस बजट पर 2 और 3 मार्च को चर्चा होगी और सीएम 3 मार्च को सवालों के जवाब देंगे। माना जा रहा है कि इस बार खट्टर सरकार का बजट किसानों को लुभाने वाला हो सकता है। यह बजट किसान और खेती पर ही केंद्रित रह सकता है, ताकि साल 2022 तक किसानों की आय दोगुनी की जा सके।

बजट में किसानों के लिए भविष्य में कुछ नई योजनाओं की घोषणा भी की जा सकती है। गुरुवार को सत्र की शुरुआत के पहले बिजनेस एडवायजरी कमेटी की बैठक हुई थी। इस बैठक में बजट सत्र की अवधि निर्धारित की गई। स्पीकर ज्ञानचंद गुप्ता ने सदन में यह जानकारी दी थी।

हरियाणा में किसी मुख्यमंत्री द्वारा बजट पेश करने का यह पहला मौका है। संभावना जताई जा रही है कि राज्य का बजट डेढ़ लाख करोड़ का हो सकता है, पिछला बजट 1.32 लाख करोड़ का था। बता दें कि भाजपा और जेजेपी गठबंधन सरकार का यह पहला बजट है। ऐसे में दोनों दलों के न्यूनतम साझा कार्यक्रम को भी इस बजट में प्राथमिकता दी जाने की संभावना है। भाजपा ने इस बार अपने घोषणा पत्र में सूबे की जनता से लगभग 200 वादे किए हैं, वहीं दूसरी ओर उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला की पार्टी जेजेपी ने भी जनता के बीच जाकर 150 वादे किए हैं। दोनों राजनीतिक दलों ने इन वादों को पूरा करने के लिए न्यूनतम संयुक्त साझा कार्यक्रम तैयार किया है।

nanhe kadam hide