गुरू नानक जी केवल सिखों के नहीं, बल्कि पूरी मानवता के हैं : मनमोहन सिंह

नई दिल्लीः पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने बुधवार को कहा कि गुरू नानक देव केवल सिखों के नहीं हैं बल्कि वह संपूर्ण मानव जाति के हैं। पूर्व प्रधानमंत्री यहां ‘नेपाल की सिख विरासत’ कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे, इसके साथ ही उन्होंने नेपाल से संबंधित सिख विरासत के संबंध में पुस्तक लिखने के लिए नेपाल के पूर्व राजदूत मंजीव पुरी की सराहना की।
सिंह ने कहा कि हमारी सेना में सिखों एवं गोरखा के महत्व से सब भली भांति अवगत हैं लेकिन मुझे नहीं लगता कि विभिन्न लोगों ने दोनों को एक साथ लाने के निहितार्थ पर ध्यान केंद्रित किया है। उन्होंने कहा, ‘‘राजदूत पुरी ने हमारा ध्यान इतिहास के एक अन्य पहलू की ओर खींचा है। रानी जिंदान की नेपाल की यात्रा के परिणामस्वरूप सिखों का एक छोटा समूह बना, जो नेपाल में ही रहा जिसने मुश्किल परिस्थितियों में भी एक सदी से अधिक समय तक अपना विश्वास बनाए रखा।”

सिंह ने कहा कि भारत-नेपाल संबंध दुनिया में किसी भी देश के बीच सबसे समृद्ध संबंध हैं और यह कहा जा सकता है और दोनों देश प्रकृति, ईश्वर और लोगों के बीच सबसे मजबूत संभव संबंधों से बंधे हैं। पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि वह इस बात से खुश हैं कि आज लोगों ने इन समृद्ध सभ्यताओं के संबंधों के एक और नए पहलू के बारे में जाना है ।

Whats App