दिल्ली में हिंसा थमी, अब तक 28 लोगों की मौत, 18 पर FIR व 106 गिरफ्तार

नई दिल्लीः राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के उत्तर पूर्व क्षेत्र में दो दिन की सांप्रदायिक हिंसा में अब तक 28 लोगों की मौत हो गई है। फिलहाल गुरुवार को राजधानी में शांति बनी हुई है और पुलिस फ्लैग मार्च कर रही है। गुरु तेग बहादुर अस्पताल (GTB) में अब तक 26 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि लोक नायक जय प्रकाश नारायण अस्पताल (LNJP) में 2 लोगों की मौत हुई। वहीं घायलों की संख्या 200 के पार है। बता दें कि इससे पहले बुधवार को पुलिस ने बताया था कि 27 लोगों की मौत हुई है। इस बीच दिल्ली पुलिस ने कहा कि उसने हिंसा में कथित भागीदारी को लेकर 106 लोगों को गिरफ्तार किया है और 18 प्राथमिकियां दर्ज की हैं।

अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) मणदीप सिंह रंधावा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके बताया कि बुधवार को कोई अप्रिय घटना सामने नहीं आई और उत्तर पूर्व दिल्ली से पीसीआर कॉल घट गए हैं। खूफिया ब्यूरो के कर्मचारी अंकित शर्मा का शव बुधवार को नाले से बरामद किया गया। वह मंगलवार रात को अपनी ड्यूटी पूरी करके घर लौट कहे थे। वहीं दिल्ली को शांत करने की कमान राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को सौंपी गई है। डोभाल ने बुधवार को मिली जुली आबादी वाले क्षेत्र में जा कर स्थानीय लोगों से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि जो कुछ हुआ सो हुआ। इंशाअल्ला, जल्दी ही पूरी शांति होगी।

CBSE बोर्ड की परीक्षा रद्द
अधिकारियों ने बताया कि गुरुवार को होने वाली कक्षा 12वीं की सीबीएसई बोर्ड की अंग्रेजी परीक्षा स्थगित कर दी गई है। चांद बाग में बड़े पैमाने पर सुरक्षा बलों की तैनाती की गई है और किसी को भी बाहर नहीं आने दिया जा रहा है। पिछले दो दिन से जारी दुकानें लूटने और संपत्तियों में आग लगाने जैसी घटनाओं के बाद तनावपूर्ण शांति राहत प्रदान करने वाली थी, लेकिन सभी जगहों पर नहीं।

Whats App