Logo
ब्रेकिंग
स्वीप के तहत मतदाताओं को मतदान के प्रति जागरूक करने हेतु विभिन्न कार्यक्रमों का हुआ आयोजन। कांग्रेसी नेता बजरंग महतो ने किया जनसंपर्क, दर्जनों ने थामा कांग्रेस का दामन । माता वैष्णों देवी मंदिर का 32वां वार्षिकोत्सव भंडारा के साथ संपन्न युवक ने प्रेमिका के लवर को उतारा मौत के घाट, वारदात को अंजाम देकर कुएं में फेंकी लाश । 1932 खतियान राज्यपाल ने किया वापस, झामुमो में आक्रोश, किया विरोध, फूंका प्रधानमंत्री का पुतला । रामगढ़ विधानसभा उपनिर्वाचन 2023 के मद्देनजर उपायुक्त ने की प्रेस वार्ता कराटे बेल्ट ग्रेडेशन टेस्ट सह प्रशिक्षण शिविर में 150 कराटेकार शामिल, उत्कृष्ट प्रदर्शनकारी को मिला ... श्रीराम सेना के विशाल हिंदू सम्मेलन में राष्ट्रवादी प्रखर प्रवक्ता पुष्पेंद्र कुलश्रेष्ठ और अंतरराष्... भव्य कलश यात्रा के साथ माता वैष्णों देवी मंदिर का 32वां वार्षिकोत्सव शुरू रामगढ़ में मनाया गया 74 वां गणतंत्र दिवस, विभिन्न कार्यालयों द्वारा निकाली गई झांकी

दिल्ली हिंसा में अब तक 20 की मौत, केजरीवाल बोले- हालात चिंताजनक…बुलाई जाए सेना

नई दिल्ली: उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा में अब तक 20 लोगों की मौत हो गई है जबकि घायलों की संख्या 200 से पार है। गुरु तेग बहादुर (GTB) अस्पताल के अधिकारी ने इसकी जानकारी दी। वहीं दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में हालात चिंताजनक हैं इसलिए सेना को बुलाया जाए। बता दें कि बुधवार सुबह भी गोकुलपुरी में हिंसा हुई लेकिन पुलिस ने जल्द ही वहां पर हालात पर काबू पा लिया। दिल्ली में भारी पुलिस बल तैनात है और गलियों में भी राउंड लगाए जा रहे हैं ताकि कहीं भी ज्यादा लोग इकट्ठे न हो पाए।

भजनपुरा और खजूरी खास इलाके में मंगलवार को आगजनी और पथराव होने के बाद पुलिस ने फ्लैग मार्च किया। भजनपुरा में बैटरी की एक दुकान जला दी गई। उस दुकान में तोड़फोड़ की गई। सड़क पर जली हुई बैटरियां बिखरी नजर आईं।

स्कूल आज भी बंद
उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने मंगलवार को कहा कि हिंसा प्रभावित उत्तर पूर्वी दिल्ली में निजी और सरकारी स्कूल बुधवार को भी बंद रहेंगे। दिल्ली के शिक्षा मंत्री सिसोदिया ने बताया कि स्कूलों ने सभी आंतरिक परीक्षाएं टाल दी हैं।

बता दें कि राष्ट्रीय राजधानी के उत्तर पूर्वी इलाके में मंगलवार को चांदबाग और भजनपुरा सहित कई क्षेत्रों में एक बार फिर से हिंसा हुई। दंगाइयों ने गोकलपुरी में दो दमकल वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया। भीड़ भड़काऊ नारे लगा रही थी और मौजपुर और अन्य स्थानों पर अपने रास्ते में आने वाले फल की गाड़ियों, रिक्शा और अन्य चीजों को आग लगा दी। पुलिस ने दंगाइयों को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े। इन दंगाइयों ने अपने हाथों में हथियार, पत्थर, रॉड और तलवारें भी ली हुई थीं। कई ने हेलमेट पहन रखे थे।

nanhe kadam hide