CAA विरोध पर कपिल मिश्रा की चेतावनी-ट्रंप के वापस जाने तक हम शांत, फिर किसी की नहीं सुनेंगे

yamaha

नई दिल्लीः उत्तर-पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद इलाके में सीएए विरोधियों और समर्थकों के बीच रविवार को  झड़प हो गई, जिसके बाद धरना प्रदर्शन शुरू हो गया। इसी बीच भाजपा नेता कपिल मिश्रा का एक वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। मिश्रा ने ट्वीट किया कि हमने दिल्ली पुलिस को सड़क खाली कराने के लिए तीन दिन का समय दिया है। जाफराबाद और चांदबाग की सड़क खाली कराएं। मिश्रा ने एक वीडियो भी ट्वीट किया, जिसमें वह सभा को संबोधित करते हुए कह रहे हैं, ”वे (प्रदर्शनकारी) दिल्ली में तनाव पैदा करना चाहते हैं। इसलिए उन्होंने सड़कें बंद कर दी हैं। इसीलिए उन्होंने यहां दंगे जैसे हालात पैदा कर दिए हैं। हमने कोई पथराव नहीं किया।”

 

Kapil Mishra

@KapilMishra_IND

दिल्ली पुलिस को तीन दिन का अल्टीमेटम – जाफराबाद और चांद बाग की सड़कें खाली करवाइए इसके बाद हमें मत समझाइयेगा , हम आपकी भी नहीं सुनेंगे, सिर्फ तीन दिन@DelhiPolice

Embedded video

20.6K people are talking about this
उन्होंने वहां मौजूद लोगों से कहा, ‘‘अमेरिकी राष्ट्रपति के भारत में रहने तक, हम इलाके को शांतिपूर्वक छोड़ रहे हैं। इसके बाद अगर तब तक सड़कें खाली नहीं हुईं तो हम आपकी (पुलिस की) नहीं सुनेंगे।” मिश्रा ने संशोधित नागरिकता कानून (CAA) के समर्थन में मौजपुर लालबत्ती के निकट सभा बुलाई थी। उन्होंने मांग की कि पुलिस CAA विरोधी प्रदर्शनकारियों को तीन दिन में हटाए। मिश्रा ने कहा कि प्रदर्शनकारी सड़कें बाधित करके 35 लाख लोगों का संपर्क तोड़ना चाहते हैं। किसी चीज के खिलाफ प्रदर्शन का क्या यह कोई तरीका है? हम इस इलाके को शाहीन बाग नहीं बनने देंगे।

मिश्रा ने कहा कि सड़कें बाधित करने से करीब 35 लाख लोग प्रभावित हुए हैं। उनके पास यमुना पार जाने का कोई और रास्ता नहीं है। वहीं दिल्ली पुलिस ने करावल नगर में खुरेजी खास, उत्तरपूर्व दिल्ली में चांदबाग और दक्षिण दिल्ली में हौज रानी में सुरक्षा बढ़ा दी है। बता दें कि पिछले दो महीने से प्रदर्शनकारियों ने शाहीन बाग को बंद किया हुआ है जिससे आम लोगों को खासी परेशानी हो रही है। सुप्रीम कोर्ट के नियुक्त किए गए वार्ताकारों के समझाने पर भी प्रदर्सनकारी नहीं माने और रास्ता खोलने से मना कर दिया।

raja moter
Leave A Reply

Your email address will not be published.