नृत्य गोपाल दास का बड़ा फैसला, कहा-1992 में हो चुका है मंदिर का शिलान्यास, अब सीधे होगा भूमि पूजन

नृत्यगोपाल दास ने बताया कि PM ने कहा है कि भगवान श्रीराम टेंट में हैं, इसलिए जल्द से जल्द मंदिर का निर्माण शुरू होना चाहिए।

yamaha

अयोध्याः श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास ने महत्वपूर्ण फैसला लिया है। उन्होंने कहा कि मंदिर का शिलान्यास 1992 में हो चुका है। ऐसे में बार-बार शिलान्यास नहीं हो सकता। अब सीधे भूमि पूजन होगा। ट्रस्ट ने बृहस्पतिवार को भूमि पूजन का न्योता भेज कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आमंत्रित किया है।

PM ने विशाल व भव्य राममंदिर निर्माण का दिया भरोसा
बता दें कि गुरुवार को ही नृत्य गोपाल दास की अगुवाई में ट्रस्ट के सदस्यों ने प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात की थी। PM से मुलाकात के एक दिन बाद गोपाल दास ने कहा कि ट्रस्ट ने सरकार से जल्द से जल्द मंदिर निर्माण शुरू कर जन आकांक्षाओं को पूरा करने की मदद मांगी है। PM ने भी विशाल और भव्य मंदिर का निर्माण जल्द शुरू कराने का भरोसा दिया। उन्होंने यह भी कहा कि वह जल्द अयोध्या आएंगे।

अयोध्या पर ऐसी टिप्पणी से बचें जिससे देश का माहौल बिगड़े
नृत्यगोपाल दास ने बताया कि PM ने कहा है कि भगवान श्रीराम टेंट में हैं, इसलिए जल्द से जल्द मंदिर का निर्माण शुरू होना चाहिए। उन्होंने आश्वासन दिया है कि भगवान राम जल्द भव्य मंदिर में विराजेंगे। PM ने ट्रस्ट से राम मंदिर निर्माण के दौरान देश में सौहार्द को कायम रखने की अपील करते हुए कहा किअयोध्या पर कोई ऐसी टिप्पणी से बचें जिससे देश का माहौल बिगड़ने का खतरा हो।

दो नहीं तीन मंजिला बनेगा राम मंदिर
VHP सूत्रों ने बताया कि बैठक में सदस्यों की राय थी कि मंदिर दो की जगह तीन मंजिला बनाया जाए। जिसमें एक मंडप और 35 फुट ऊंचा शिखर जोड़ा जाए। मंदिर में पहले की तरह 5 प्रवेश द्वार रखने और अष्टकोणीय आकृति बरकरार रखने पर भी चर्चा हुई। यह तय किया गया कि पुराने मॉडल के अनुरूप ही रामलला की मूर्ति को मंदिर के सबसे निचले तल में ही स्थापित किया जाए। ऐसे में यह भी तय हुआ कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण VHP के तीन दशक पुराने मॉडल के अनुसार होगा। वहीं जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महामंत्री चंपत राय, सदस्य विमलेंद्र मोहन प्रताप मिश्र, डॉ. अनिल मिश्र की भवन निर्माण समिति के अध्यक्ष नृपेंद्र मिश्र के साथ हुई बैठक में शुक्रवार को VHP के पुराने मॉडल में कुछ बदलावों को लेकर मंथन हुआ।

raja moter
Leave A Reply

Your email address will not be published.