Logo
ब्रेकिंग
माता वैष्णों देवी मंदिर का 32वां वार्षिकोत्सव भंडारा के साथ संपन्न युवक ने प्रेमिका के लवर को उतारा मौत के घाट, वारदात को अंजाम देकर कुएं में फेंकी लाश । 1932 खतियान राज्यपाल ने किया वापस, झामुमो में आक्रोश, किया विरोध, फूंका प्रधानमंत्री का पुतला । रामगढ़ विधानसभा उपनिर्वाचन 2023 के मद्देनजर उपायुक्त ने की प्रेस वार्ता कराटे बेल्ट ग्रेडेशन टेस्ट सह प्रशिक्षण शिविर में 150 कराटेकार शामिल, उत्कृष्ट प्रदर्शनकारी को मिला ... श्रीराम सेना के विशाल हिंदू सम्मेलन में राष्ट्रवादी प्रखर प्रवक्ता पुष्पेंद्र कुलश्रेष्ठ और अंतरराष्... भव्य कलश यात्रा के साथ माता वैष्णों देवी मंदिर का 32वां वार्षिकोत्सव शुरू रामगढ़ में मनाया गया 74 वां गणतंत्र दिवस, विभिन्न कार्यालयों द्वारा निकाली गई झांकी माँ की ममता से दूर जेल में बंद पूर्व विधायक मामता देवी का दूधमुहा बच्चा बीमारी की गिरफ्त में । माता वैष्णों देवी मंदिर के 32वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 26 को

महाशिवरात्रि पर सीएम योगी ने भगवान शंकर का किया रुद्राभिषेक

इसके पूर्व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरु गोरखनाथ का दर्शन कर पूजन किया। अखण्ड ज्योति के दर्शन किए।

गोरखपुर: सीएम योगी आदित्यनाथ तीन दिवसीय दौरे पर अपने गृहनगर गोरखपुर में हैं। अपने इस दौरे के दूसरे दिन उन्होंने महाशिवरात्रि के अवसर पर गोरक्षनाथ मंदिर में पूजा-अर्चना की। अपनी दिनचर्या के हिसाब से गोरखनाथ मंदिर में प्रात: काल भ्रमण के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी महाराज ने गायों को गुड़ खिलाने के बाद हिंदू सेवाश्रम में करीब 500 फरियादियों के बीच जाकर जनता दर्शन में पहुंचकर वहां पर उनकी समस्याओं को सुनते हुए उन्होंने जल्द निराकरण का भरोसा भी दिया। बाद में गोरखनाथ मंदिर स्थित आवास के प्रथम तल दुर्गा मंदिर में महाशिवरात्रि के अवसर पर भगवान शंकर का रुद्राभिषेक भी किया।

गोरखनाथ मंदिर में प्रवास कर रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार की सुबह हिन्दू सेवाश्रम में जनता दर्शन कार्यक्रम के दौरान दूर दराज से आए फरियादियों से मिले। हिन्दू सेवाश्रम के सभागार में कुर्सियों पर बैठे फरियादियों के पास सीएम एक-एक कर पहुंचे और उनकी लिखित शिकायत ली। फरियादियों से बात कर आश्वस्त किया कि उनकी समस्याओं को समाधान होगा।

इसके पूर्व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरु गोरखनाथ का दर्शन कर पूजन किया। अखण्ड ज्योति के दर्शन किए। उसके बाद अपने गुरु ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ की समाधि पर पूजन कर आशीर्वाद लिया। उन्होंने गोशाला में भी तकरीबन 10 मिनट तक वक्त गुजारा। यहां गायों की देखभाल करने वालों के साथ बातचीत की। उन्होंने गायों को चना और गुण भी खिलाया।

nanhe kadam hide