महाशिवरात्रि पर्व पर राम नगरी में शिवभक्तों का लगा तांता, हर हर महादेव के लगे जयकारे

yamaha

अयोध्या: आसमान में छाये बादल और बूंदा-बांदी के बीच महाशिवरात्रि पर्व पर अयोध्या में मेले जैसा दृश्य है और पावनसलिला सरयू में बड़ी संख्या में श्रद्धालु ब्रह्म मुहूर्त से ही स्नान करके प्राचीन नागेश्वर नाथ, क्षीरेश्वर नाथ, चन्द्रहरि, नागनाथ और लोरेश्वर महादेव मन्दिर में स्थापित शिवलिंगों पर बेर, बेल पत्र, गेहूं की बाली, गन्ने का गुटका, धतूरे और भांग चढाकर गन्ने का रस, दूध और जल का अभिषेक कर रहे हैं। इस बीच समूची अयोध्या भोले बाबा के जयकारों से गुंजायमान हो रही है और शिव मंदिरों में शिव जी की कृपा पाने के लिए भक्तों में विभिन्न अनुष्ठान करने की होड़ लगी हुई है।

सम्पूर्ण मेला क्षेत्र को सेक्टर और सब सेक्टर में विभक्त करके सुरक्षा बालों की तैनाती की गई है। सरयूतट स्थित और देश के 108 ज्योतिर्लिंगों में एक नागेश्वर नाथ मन्दिर से देर शाम शिवजी की बारात धूम-धाम से निकाली जायेगी, जो नगर भ्रमण करते हुए क्षीरेश्वरनाथ, हनुमान गढ़ी और कनक भवन मंदिर सहित प्रमुख मंदिरों से होते हुए वापसनागेश्वर नाथ पहुंचेगी। जहां देर रात्रि देश-विदेश के भक्तों के बीच शिव-पार्वती के पाणिग्रहण संस्कार के भावपूर्ण अनुष्ठान संपन्न किये जायेंगे।
महाशिवरात्रि का संबंध भगवान शिव और माता पार्वती के विवाह से है: सुशील पांडेय
सुशील पांडेय (श्रद्धालु) ने बताया कि महाशिवरात्रि का संबंध भगवान शिव और माता पार्वती के विवाह से है। इस दिन इनका विवाह हुआ था। इसलिए हमलोग बड़े ही मनोकामना के साथ उनकी पूजा-अर्चना कर रहे हैं। जैसा कि सबको पता है कि ये प्रभु श्रीराम की नगरी है इसलिए हम लोग यहां पूजा करने आते हैं।

मन की शांति और पति की दीर्घ आयु के लिए होती है पूजा: रूपा तिवारी
रूपा तिवारी ने बताया कि मन की शांति के लिए और जो शादी शुदा औरतें हैं वह अपने पति की दीर्घ आयु के लिए भगवान शिव से कामना करती हैं। शिवजी अपने भक्तों की मनोकामनाओं को पूर्ण करते हैं।

भगवान शिव पर विश्वास करते हैं लाेग- इंदिरा
महाशिवरात्रि पर्व के महत्व को बताते हुए श्रद्धालु इंदिरा ने बताया कि लोग भगवान शिव (भोलेनाथ) पर विश्वास करते हैं। भगवान शिव उनकी मनोकामना भी पूरी करते हैं। श्रद्धालु मंदिर में दर्शन कर भगवान से सतबुद्धि की कामना करते हैं। उनका कहना है कि औरतें अपने पति के लिए लम्बी आयु की कामना के लिए शिव को जल चढ़ाती हैं।

आज प्रभु शिव और माता पार्वती का दिन है-पुनीत दास
पुनीत दास ने बताया कि आज प्रभु शिव और माता पार्वती का दिन है। इससे उत्तम दिन क्या है? उन्होंने बताया कि सभी भक्तों के लिए जो दिन भर व्रत रहेंगे और रात्रि में अपना उद्यापन करेंगे भगवान शिव उनकी मनोकामना पूरी करते हैं। साथ ही शिव उनके कल्याण से लेकर सभी पापों की मुक्ति करते हैं।

raja moter
Leave A Reply

Your email address will not be published.