मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर का दावा, गुलशन कुमार की हत्या की थी पहले से जानकारी

मारिया ने खबरी से हिन्ट मिलने के बाद अगले दिन बॉलीवुड के निर्माता-निर्देशक महेश भट्ट को फोन किया

yamaha

पूर्व पुलिस कमिश्नर राकेश मारिया की हाल ही में रिलीज हुई किताब में कई बड़े-बड़े खुलासे सामने आ रहे हैं। राकेश मारिया ने अपनी किताब में टी-सीरीज के मालिक गुलशन कुमार की 1997 में हुई हत्या को लेकर भी सनसनीखेज खुलासा किया है। मारिया ने अपनी किताब ‘‘लेट मी से इट नाउ” में लिखा कि उन्हें टी-सीरीज कंपनी के मालिक गुलशन कुमार की ह्तया की खबर पहले से ही थी। मारिया ने किताब में लिखा कि उनको सूचना मिल गई थी कि गुलशन कुमार की शिव मंदिर में हत्या होने वाली है लेकिन वे इस घटना को रोक नहीं पाए।

मारिया ने किताब में लिखा कि उन्हें एक खबरी ने फोन पर इस गुलशन कुमार पर हमले की जानकारी दी थी, जब खबरी से पूछा गया कि कौन विकेट गिराने वाला है तो जवाब आया, अबू सलेम। मारिया ने आगे लिखा कि खबरी ने कहा, सलेम ने शूटर्स के साथ सब प्लान तय किया है। गुलशन घर से निकलकर रोज सुबह एक शिव मंदिर जाते हैं। वहीं पर उनका काम खत्म करने वाले हैं। मारिया ने लिखा कि जब उन्होंने खबरी से पूछा कि क्या खबर पक्की है तो उसने कहा, साहब एकदम पक्की खबर है, नहीं तो मैं आपको क्यों बताता। मारिया का कहना है कि इसके बाद मैं फोन रखकर सोचने लगा।

जब महेश भट्ट को किया फोन
मारिया ने खबरी से हिन्ट मिलने के बाद अगले दिन बॉलीवुड के निर्माता-निर्देशक महेश भट्ट को फोन किया और उनसे पूछा कि क्या आप गुलशन कुमार को पहचानते हैं? मारिया ने कहा कि पहले तो महेश भट्ट अचरज में पड़ गए कि सुमब-सुबह मैंने उनको फोन क्यों कर दिया। इसके बाद उन्होंने जवाब दिया कि हां, गुलशन कुमार को पहचानता हूं। मैं उनकी एक फिल्म का निर्देशन कर रहा हूं। भट्ट ने इस बता की भी पुष्टि की कि गुलशन कुमार रोज सुबह शिव मंदिर जाते हैं।

इस कारण मुंबई पुलिस नहीं दे पाई सिक्योरिटी
मारिया का कहना है कि उन्होंने मुंबई पुलिस की अपराध शाखा से गुलशन कुमार को सुरक्षा देने को कहा था लेकिन 12 अगस्त 1997 को फोन आया कि गुलशन कुमार की उसी शिव मंदिर में हत्या कर दी गई है। इसके बाद पुलिस जांच में पता चला कि गुलशन की सुरक्षा उत्तर प्रदेश की पुलिस और कमांडो संभाल रहे थे इसलिए मुंबई पुलिस ने अपनी सुरक्षा वापस ले ली थी। मारिया के मुताबिक, उत्तर प्रदेश पुलिस सतर्कता से गुलशन की सुरक्षा कर रही थी लेकिन मौके का फायदा उठाकर शूटर्स ने उनको मार डाला। बता दें कि गुलशन कुमार ने कुछ ही सालों में फिल्मी गानों के कैसेट रिकॉर्डिंग, फिल्म निर्माण और भक्ति एलबमों से करोड़ों रुपए कमाए थे। इसी कारण वे अंडरवर्ल्ड के निशाने पर थे।

raja moter
Leave A Reply

Your email address will not be published.