सरकार की अनदेखी से तीन महीने से परेशान परिवार, अब जल समाधि लेने को मजबूर

जशपुर में कलेक्टर कार्यालय से महज 200 मीटर की दूरी पर पुष्पा यादव अपने परिवार के साथ हंसी खुशी अपना जीवन गुजार रही थी।

yamaha

जशपुर। छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले में एक परिवार का कहना है कि वह जल समाधि लेंगे। दरअसल, उनके घर के पास पानी की धारा में रुकावट आने के कारण उनके घर में पानी भर गया है। इसलिए उन्होंने कहा कि वह ‘जल समाधि’ लेंगे। परिवार के सदस्यों में से एक का कहना है कि हमारे घर में पिछले 3 महीनों से बाढ़ आ गई है, हमारे पास अब और कोई विकल्प नहीं है, लेकिन हम जल समाधि ले सकते हैं।

जशपुर में कलेक्टर कार्यालय से महज 200 मीटर की दूरी पर पुष्पा यादव अपने परिवार के साथ हंसी खुशी अपना जीवन गुजार रही थी। पुष्पा ने कहा कि उनके घर के पास में एक नाला था। एक आदमी ने नाले की जमीन को अपना बताकर नाले को मिट्टी से बंद कर दिया। इसके बाद से ही नाले का पानी धीरे-धीरे उनके घर में घुस गया। पिछले तीन महीनों से लगातार पानी उनके घर में घुस रहा है और अब घुटनों तक आ गया है।

घर में पानी घुसने के बाद से 7 सदस्यों का ये परिवार एक ही कमरे में रहने को मजबूर हो गया है। घर में पानी भरने की वजह से सांप और बिच्छु भी घर में घूस जाते हैं। लगातार पानी भरे रहने से मकान अब गिरने की कगार पर पहुंच गया है। जिससे इन सभी की जान को खतरा बना हुआ है। पीड़ित परिवार ने सीएमओ, नगर पालिका सहित कई जिले के आला अधिकारियों से मिलकर इसके बारे में जानकारी दी और समस्या का समाधान करने की मांग की। लेकिन, इतने महीने बाद भी समस्या का समाधान नहीं हो पाया है। इस वजह से ये परिवार जल समाधि लेने की बात कह रहा है।

परिवार की सदस्य पुष्पा यादव ने कहा कि इस घर के अलावा उनके पास नो तो कोई जमीन है और ना ही घर। यदि प्रशासन उन्हें मदद नहीं देता है तो पूरी परिवार जल समाधि ले लेगा। वहीं जिले कलेक्टर नीलेश क्षीरसागर ने जल्द ही नाला बनवाकर पानी निकासी के इंतजाम कर समस्या के समाधान की बात कही है।

raja moter
Leave A Reply

Your email address will not be published.