Logo
ब्रेकिंग
आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी

CAA protest: यहां की मुस्लिम महिलाओं ने इजाद किया विरोध का नया तरीका, खोल रहीं रोजा

अभी रमजान का महीना नहीं है। रमजान में रोजा रखा जाता है। सोमवार को सबका ध्यान खींचने के लिए धरनास्थल पर महिलाओं ने रोजा रखा।

कुमारधुबी। CCA के विरोध में दिल्ली के शाहीन बाग में जारी महिलाओं के धरना-प्रदर्शन से प्रभावित होकर धनबाद के मुस्लिम बहुल शिवलीबाड़ी में भी महिलाएं धरना दे रही हैं। अब धरना के दाैरान केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की नीतियों का नए तरीकों से विरोध किया जा रहा है। धरना स्थान पर ही महिलाएं रोजा खोल रहीं हैं।

CAA के विरोध में शिवलीबाड़ी में धनबाद जिला प्रशासन ने तीन दिन धरना की अनुमति दी थी। इसके बाद भी धरना पर बैठे लोग नहीं उठे। प्रशासन ने चेतावनी दी तो पांच दिन की अनुमति मांगी। इसके बाद आंदोलनकारियों ने महिलाओं को आगे कर दिया। धरना एक पखवारा से जारी है। अब प्रशासन के लोग भी धरना की सुध नहीं ले रहे हैं। दूसरी तरफ धरना स्थल पर नए-नए तरीकों से सरकार का विरोध किया जा रहा है।

अभी रमजान का महीना नहीं है। रमजान में रोजा रखा जाता है। सोमवार को सबका ध्यान खींचने के लिए धरनास्थल पर महिलाओं ने रोजा रखा। धरनास्थल पर ही महिलाओं के साथ पुरुषों ने भी रोजा खोला। धरना स्थल पर उपस्थित महिलाओं ने कहा कि देश में अमन शांति तथा भाईचारा कायम रहे, इसके लिए हमने रोजा रखा है। देश आज जिस विकट स्थिति से गुजर रहा है, ऐसे में हम सभी लोगों को संयम बरतने की आवश्यकता है। हम देश की अखंडता पर किसी की नजर लगने नहीं देंगे। हमसब एक थे एक ही रहेंगे। मौके पर सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण मौजूद थे।