CAA protest: यहां की मुस्लिम महिलाओं ने इजाद किया विरोध का नया तरीका, खोल रहीं रोजा

अभी रमजान का महीना नहीं है। रमजान में रोजा रखा जाता है। सोमवार को सबका ध्यान खींचने के लिए धरनास्थल पर महिलाओं ने रोजा रखा।

yamaha

कुमारधुबी। CCA के विरोध में दिल्ली के शाहीन बाग में जारी महिलाओं के धरना-प्रदर्शन से प्रभावित होकर धनबाद के मुस्लिम बहुल शिवलीबाड़ी में भी महिलाएं धरना दे रही हैं। अब धरना के दाैरान केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की नीतियों का नए तरीकों से विरोध किया जा रहा है। धरना स्थान पर ही महिलाएं रोजा खोल रहीं हैं।

CAA के विरोध में शिवलीबाड़ी में धनबाद जिला प्रशासन ने तीन दिन धरना की अनुमति दी थी। इसके बाद भी धरना पर बैठे लोग नहीं उठे। प्रशासन ने चेतावनी दी तो पांच दिन की अनुमति मांगी। इसके बाद आंदोलनकारियों ने महिलाओं को आगे कर दिया। धरना एक पखवारा से जारी है। अब प्रशासन के लोग भी धरना की सुध नहीं ले रहे हैं। दूसरी तरफ धरना स्थल पर नए-नए तरीकों से सरकार का विरोध किया जा रहा है।

अभी रमजान का महीना नहीं है। रमजान में रोजा रखा जाता है। सोमवार को सबका ध्यान खींचने के लिए धरनास्थल पर महिलाओं ने रोजा रखा। धरनास्थल पर ही महिलाओं के साथ पुरुषों ने भी रोजा खोला। धरना स्थल पर उपस्थित महिलाओं ने कहा कि देश में अमन शांति तथा भाईचारा कायम रहे, इसके लिए हमने रोजा रखा है। देश आज जिस विकट स्थिति से गुजर रहा है, ऐसे में हम सभी लोगों को संयम बरतने की आवश्यकता है। हम देश की अखंडता पर किसी की नजर लगने नहीं देंगे। हमसब एक थे एक ही रहेंगे। मौके पर सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण मौजूद थे।

raja moter
Leave A Reply

Your email address will not be published.