Logo
ब्रेकिंग
भव्य कलश यात्रा के साथ माता वैष्णों देवी मंदिर का 32वां वार्षिकोत्सव शुरू रामगढ़ में मनाया गया 74 वां गणतंत्र दिवस, विभिन्न कार्यालयों द्वारा निकाली गई झांकी माँ की ममता से दूर जेल में बंद पूर्व विधायक मामता देवी का दूधमुहा बच्चा बीमारी की गिरफ्त में । माता वैष्णों देवी मंदिर के 32वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 26 को सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर याद किए गए नेताजी, रामगढ़ से जुड़ा है नेताजी के कई लम्हो का नाता । स्वीप के तहत जिला प्रशासन एकादश एवं दिव्यांग एकादश के बीच हुआ क्रिकेट मैच का आयोजन । नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती एवं पराक्रम दिवस के अवसर पर माल्यार्पण कार्यक्रम का हुआ आयोजन । रामप्रसाद चंद्रभान सरस्वती विद्या मंदिर में संस्कृति ज्ञान परीक्षा का आयोजन। मेदांता रांची द्वारा अधिवक्ता संघ परिसर में लगाया गया निशुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर । रामगढ़ विधानसभा उपचुनाव को लेकर कांग्रेस के पदाधिकारियों की हुई बैठक ।

कोरोना वायरस से बचाव, पर स्वाइन फ्लू की चपेट में दिल्ली…अब तक 43 लोग संक्रमित

वहीं डॉक्टरों का कहना है कि स्वाइन फ्लू से घबराने या डरने की जरूरत नहीं है। यह ऐसा संक्रमण है जिससे बचाव संभव है

नई दिल्लीः चीन के वुहान से शुरू हुए कोरोना वायरस से दुनिया में अबतक 69 हजार से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं। हांलाकि भारत में अभी इस वायरस का ज्यादा असर नहीं है। भले ही कोरोना वायरस से भारत में लोगों का बचाव है लेकिन दिल्ली में H1N1 (स्वाइन फ्लू) वायरस यहां पर ऐक्टिव हो गया है। दिल्ली में जनवरी से अब तक स्वाइन फ्लू के 43 लोग संक्रमित पाए गए हैं। राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र (एनसीडीसी) की रिपोर्ट के अनुसार 2 फरवरी तक दिल्ली में स्वाइन फ्लू के 43 मरीज की पुष्टि की गई है। जबकि पिछले साल दिल्ली में स्वाइन फ्लू से कुल 3627 लोग संक्रमित हुए थे, जिसमें से 31 लोगों की जान चली गई थी। हालांकि इस साल अभी तक इस वायरस से किसी मौत नहीं हुई है।

स्वाइन फ्लू से डरने की जरूरत नहीं
वहीं डॉक्टरों का कहना है कि स्वाइन फ्लू से घबराने या डरने की जरूरत नहीं है। यह ऐसा संक्रमण है जिससे बचाव संभव है और इसका इलाज भी मौजूद है। डॉक्टरों ने कहा कि जरूरत है कि लोग समय पर इलाज के लिए अस्पताल पहुंचें और इस वायरस के प्रति जागरूक रहें। डॉक्टरों के मुताबिक यह वायरस एक से दूसरे में फैलता है, खांसने, छींकने या छूने से भी एक से दूसरे में यह वायरस पहुंच जाता है। इसलिए ऐसे लोग जो इस वायरस के शिकार हैं, उन्हें आइसोलेट करके रखना चाहिए। डॉक्टरों के मुताबिक इस वायरस के लिए हमारे पास एंटी वायरस दवा और वैक्सीन भी उपलब्ध है। डॉक्टर ने लोगों को अलर्ट रहने की सलाह दी है और कहा कि इसके लक्षण पर जरूर गौर करें, जिसमें बुखार के साथ सर्दी, जुकाम, खांसी, गले में खराश और सांस लेने में परेशानी हो तो तुरंत अपने डॉक्टर से मिलें।

nanhe kadam hide