कन्‍हैया पर हमले को लेकर 10 शिवसैनिकों सहित 30 पर FIR, शिव सेना महासचिव सहित तीन गिरफ्तार

हमले के बाद सीपीआइ ने कन्‍हैया की सुरक्षा को लेकर सवाल खड़े करते हुए बिहार की नीतीश सरकार की आलोचना की।

yamaha

पटना। बीते 30 जनवरी से नागरिकता संशोधन कानून (CAA), राष्‍ट्रीय नागरिक रजिस्‍टर (NRC) व राष्‍ट्रीय जनसंख्‍या रजिस्‍टर (NPR) के खिलाफ बिहार में ‘जन गण मन यात्रा’ (Jana Gana Mana Yatra) पर निकले भारतीय कम्‍युनिस्‍ट पार्टी (CPI) नेता व जवाहरलाल नेहरू विवि छात्रसंघ (JNUSU) के पूर्व अध्‍यक्ष कन्‍हैया कुमार (Kanhaiya Kumar) पर लगातार हमले (Attack) हो रहे हैं। उनपर ताजा हमला शुक्रवार को आरा आते वक्‍त हुआ था,  जिसपर पुलिस ने कार्रवाई की है।

इस मामले में भोजपुर पुलिस ने शिवसेना (Shiv Sena) के जिला प्रमुख समेत 10 शिव सैनिकों तथा 15-20 अज्ञात के खिलाफ उदवंतनगर थाना अंतर्गत गजराजगंज ओपी में एफआइआर (FIR) दर्ज कराया है। पुलिस ने भोजपुर के शिवसेना महासचिव विक्रमादित्‍य सहित तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

शिवसेना महासचिव सहित तीन गिरफ्तार, अन्‍य की तलाश

कन्‍हैया पर हमले के मामले में पुलिस ने शिवसेना के भोजपुर जिला महासचिव विक्रमादित्य (Vikramaditya) और संजय गुप्ता (Sanjay Gupta) को गिरफ्तार कर लिया है। हमले के दौरान कुचलकर घायल शिवसैनिक सनी तिवारी (Suni Tiwari) काे भी गिरफ्तार कर लिया गया है। सनी तिवारी का इलाज पुलिस कस्टडी में हो रहा है। अन्य आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी जारी है। हालांकि, पुलिस कार्रवाई को शिवसैनिकों ने एकतरफा करार दिया है। शिव सैनिकों की मानें तो कन्हैया के समर्थकों द्वारा भी उनपर हमला किया गया।

बक्‍सर से आरा आते वक्‍त हुआ अब तक का सबसे बड़ा हमला

विदित हो कि शुक्रवार को कन्हैया के काफिले के बक्सर से आरा आते वक्‍त शहर में प्रवेश से पहले आरा-बक्सर एनएच 84 (Ara-Buxar NH 84) पर हमला किया गया था। इस हमले में कई गाड़ियों के शीशे टूट गए। बताया जाता है कि हमलावरों के रूख को देखते हुए कन्‍हैया को जान बचाकर भागना पड़ा।  इस दौरान मची भगदड़ में दोनों तरफ के कई लोग कुचले गए। घटना के बाद कन्हैया ने आरा के रमना मैदान में जनसभा को संबोधित किया। कन्‍हैया पर बिहार में कई जगह हमले किए जा चुके हैं, लेकिन शुक्रवार को हुई घटना अब तक की सबसे बड़ी थी।

सीपीआइ महासचिव ने नीतीश को लिखा पत्र, सुरक्षा मांगी

हमले के बाद सीपीआइ ने कन्‍हैया की सुरक्षा को लेकर सवाल खड़े करते हुए बिहार की नीतीश सरकार की आलोचना की। सीपीआइ के महासचिव डी. राजा ने मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार को पत्र लिख कन्‍हैया की सुरक्षा तथा हमले के दोषियों पर कार्रवाई की मांग की। फिर, घटना को लेकर पुलिस हरकत में आई।

कन्‍हैया पर हो चुके आठ हमले, पहली बार हुई कार्रवाई

जन-गण-मन यात्रा पर निकले कन्हैया कुमार पर गोपालगंज, सारण, मधेपुरा, सुपौल व आरा सहित कई जगह कुल आठ हमले हो चुके हैं। इन घटनाओं में अभी तक न तो हमलावर पकड़े गए थे, न ही एफआइआर दर्ज हुई थी। जबकि, पुलिस वीडियो फुटेज देखकर भी हमलावरों की पहचान कर सकती थी। लेकिन शुक्रवार को आरा में हुए हमले के बाद पुलिस ने एफआइआर दर्ज कर कार्रवाई की है।

raja moter
Leave A Reply

Your email address will not be published.