Logo
ब्रेकिंग
स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न ।

जामिया हिंसा: लाइब्रेरी में पढ़ रहे छात्रों पर लाठी बरसाते दिखे पुलिसकर्मी, VIDEO आया सामने

वहीं इस वीडियो पर दिल्ली स्पेशल कमिश्नर (क्राइम) प्रवीर रंजन ने कहा कि हमने जामिया के विडियो का संज्ञान लिया है

नई दिल्ली: दिल्ली स्थित जामिया मिल्लिया इस्लामिया में पिछले साल 15 दिसंबर को हुए बर्बरता का एक वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। इस वीडियो को जामिया कॉर्डिनेशन कमेटी (Jamia Coordination Committee) ने जारी किया है। 15 दिसंबर को छात्रों ने आरोप लगाया था कि दिल्ली पुलिस जामिया की लाइब्रेरी के अंदर घुसी थी और छात्रों को बुरी तरह से पीटा था अब दो महीने बाद उस घटना सीसीटीवी सामने आया है। सीसीटीवी फुटेज में दिख रहा है कि जामिया की ओल्ड में छात्र पढ़ाई कर रहे हैं। तभी अचानक पुलिस अंदर घुसती है और लाइब्रेरी के अंदर पढ़ रहे छात्रों को बुरी तरह पीटने लगती है। छात्र बचने के लिए इधर-उधर भागते नजर आ रहे हैं।

बता दें कि इस घटना में बड़ी तादाद में छात्र घायल हुए थे। पुलिस की पिटाई में एक छात्र की आंख भी खराब हो गई थी। वहीं अब तक लाइब्रेरी खुल नहीं पाई है। JCC ने इस वीडियो पर कहा कि सीसीटीवी फुटेज में साफ देखा जा सकता है कि किस तरह से पुलिस बल राज्य प्रायोजित हिंसा को अंजाम दे रही है। जामिया के छात्र अपने एग्जाम की तैयारी रीडिंग हॉल में कर रहे थे लेकिन तभी पुलिस ने उनसे बर्बरता की।

वहीं इस वीडियो पर दिल्ली स्पेशल कमिश्नर (क्राइम) प्रवीर रंजन ने कहा कि हमने जामिया के विडियो का संज्ञान लिया है, इसकी जांच की जाएगी। क्राइम ब्रांच पहले ही इस मामले की गहन जांच कर रही है। यहां आपको बता दें कि पिछले साल दिसंबर में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के विरोध में जामिया मिल्लिया इस्लामिया के छात्रों ने प्रदर्शन किया था। 15 दिसंबर की रात दिल्ली पुलिस जबरन यूनिवर्सिटी के अंदर घुसी और छात्रों को बेरहमी से पीटा। इस मामले में जामिया प्रशासन की ओर से पुलिस के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई थी।