HDFC Bank Scam: महिला समूह के नाम पर 32.60 लाख गबन, जांच में पुष्टि के बाद चिरकुंडा थाना में FIR

प्रवीण एस कुमार ने लिखित शिकायत में लिखा है कि 49 महिला समूहों के 118 महिलाओं का भुगतान नहीं किया गया।

yamaha

चिरकुंडा: एचडीएफसी बैंक चिरकुंडा शाखा में पिछले दिनों महिला समूहों के लोन के नाम पर कर्मियों की मिली भगत से किए गए घोटाले से संबंधित  समाचार प्रकाशित होने के बाद अंतत: बैंक के कलस्टर प्रमुख प्रवीण एस कुमार एसएलआई धनबाद ने प्रारंभिक जांच में घोटाला को सही पाते हुए प्रबंधक सहित अन्य के खिलाफ चिरकुंडा थाने में मामला दर्ज कराया है।

प्रवीण एस कुमार ने लिखित शिकायत में लिखा है कि 49 महिला समूहों के 118 महिलाओं का भुगतान नहीं किया गया। लेकिन स्वीकृत लोन में आधे महिलाओं को लोन की रकम दी गयी आधे को नही। उसमें से कुछ महिला ग्रुप के प्रमुख की भी संलिप्तता है। बैंक के प्रारंभिक आंतरिक जांच में कुल 32 लाख 60 हजार रुपया का गबन की पुष्टि हुई है। इसके खिलाफ कलस्टर प्रमुख ने अमन कुमार रिलेशनशिप प्रबंधक सहित अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया है। शिकायत में लिखा गया कि अमन कुमार 24 दिसंबर 2019 से बैंक से बिना सूचना के अनुपस्थित है। सात फरवरी को देवी हांडी, काजल सिंह व मिठू मंडल के बैंक आकर हंगामा करने के बाद देवी हांडी ने लिखित शिकायत दर्ज कराई। उसकी शिकायत पर जांच की गयी। जिसमे मामला सत्य पाया। इसके साथ ही आगे की जांच जारी होने की बात कही। इस संबंध में चिरकुंडा पुलिस निरीक्षक प्रभात कुमार का कहना है कि शिकायत मिली है। इसकी जांचोपरांत मामला दर्ज किया जायेगा।

चर्चा है कि घोटाले के पीछे बैंक द्वारा कैश भुगतान को माना जाता है। डिजिटल इंडिया में कैश का भुगतान क्यों किया गया। इससे महिला समूह के प्रमुख के साथ एजेंट भी लाभांवित होते है। लेकिन इस पर लाभांवित होने के बजाय पूरी रकम ही ढकार लिया गया। इस घालमेल में बेचारे गरीब महिलाएं फंस गई। लेकिन सबसे आश्चर्य की बात है कि अभी तक ठगी के शिकार कई महिलाओं को इसकी जानकारी तक नहीं है।

raja moter
Leave A Reply

Your email address will not be published.