Logo
ब्रेकिंग
आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी

पत्नी किंजल ने गुजरात सरकार पर लगाया आरोप कहा, पिछले 20 दिनों से लापता है हार्दिक

इससे पहले 10 फरवरी को सोशल मीडिया के माध्यम से पटेल ने गुजरात सरकार पर जेल में बंद करने की कोशिश करने का आरोप लगाया था

अहमदाबाद। गुजरात कांग्रेस के नेता और पाटीदार आरक्षण आंदोलन की अगुवाई करने वाले हार्दिक पटेल की पत्नी किंजल पटेल ने गुजरात प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा कि उनके पति हार्दिक पटेल पिछले 20 दिनों से लापता हैं। पत्नी किंजल ने इंटरनेट पर साझा किये एक वीडियो में आरोप लगाते हुए कहा कि मेरे पति पिछले 20 दिनों से लापता हैं और वो कहा है इस बारे में हमें कोई जानकारी नहीं है। हम उनकी अनुपस्थिति से बहुत प्रभावित हैं क्या कोई इस तरह का अलगाव सहन कर सकता है।

2017 में, यह सरकार कह रही थी कि पाटीदारों पर सभी मामले वापस ले लिए जाएंगे। फिर वे अकेले हार्दिक को ही क्यों निशाना बना रहे हैं, किंजल ने आरोप लगाया कि पाटीदार आंदोलन के दो अन्य नेताओं को क्यों कुछ नहीं कहा गया जो अब भाजपा में शामिल हो चुके हैं।

किंजल कहती हैं, यह सरकार चाहती कि हार्दिक जनता से न मिले, न बातचीत करें और जनता के मुद्दों को उठाना बंद करें। हालांकि हार्दिक कहा है इस बारे में अभी कोई सूचना नहीं है, लेकिन 11 फरवरी को उन्होंने ट्वीट कर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को विधान सभा चुनाव में जीत के लिए बधाई दी थी।

इससे पहले 10 फरवरी को सोशल मीडिया के माध्यम से पटेल ने गुजरात सरकार पर जेल में बंद करने की कोशिश करने का आरोप लगाया था क्योंकि राज्य में पंचायत चुनाव नज़दीक थे।

एक ट्वीट के माध्यम से पटेल ने कहा, चार साल पहले गुजरात पुलिस ने मेरे खिलाफ एक झूठा मामला दर्ज किया था, लोकसभा चुनाव के दौरान मैंने अहमदाबाद पुलिस आयुक्त से मेरे खिलाफ मामलों का विवरण मांगा था, लेकिन यह मामला मेरे खिलाफ नहीं था। पंद्रह दिन पहले, पुलिस मुझे हिरासत में लेने के लिए मेरे घर पर पहुंची, लेकिन मैं अपने घर में नहीं था।

पटेल ने दूसरे ट्वीट में लिखा है, उच्च न्यायालय में इस झूठे मामले में मेरी अग्रिम जमानत याचिका पर सुनवाई चल रही है। मेरे खिलाफ कई गैर-जमानती वारंट भी जारी किए गए हैं। गुजरात में पंचायत चुनाव नजदीक आ रहे हैं, इसीलिए बीजेपी मुझे जेल में बंद करना चाहती है। मैं बीजेपी के खिलाफ जनता की लड़ाई जारी रखूंगा। जल्द मिलेंगे, जय हिंद।