Logo
ब्रेकिंग
आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी

16 फरवरी को सुबह 10 बजे रामलीला मैदान में होगी केजरीवाल की ताजपोशी, पूरी दिल्ली को न्योता

प्रचंड बहुमत से जीत दर्ज करने वाले केजरीवाल ने बुधवार को सिविल लाइंस में अपने आधिकारिक आवास पर विधायकों से मुलाकात की

नई दिल्लीः दिल्ली में आम आदमी पार्टी (AAP) की प्रचंड जीत के बाद बुधवार को अरविंद केजरीवाल विधायक दल के नेता चुने गए। इसके साथ ही केजरीवाल अब तीसरी बार दिल्ली के मुख्यमंत्री के तौर पर 16 फरवरी को शपथ लेंगे। केजरीवाल के साथ उनकी कैबिनेट के मंत्री भी शपथ ग्रहण करेंगे। मनीष सिसोदिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इसकी जानकारी दी। सिसदोिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बतायाकि केजरीवाल 16 फरवरी को सुबह 10 बजे रामलीला मैदान में शपथ ग्रहण करेंगे। सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली वालों  शपथ ग्रहण में जरूर आना। इस दौरान सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली की जनता काम को पसंद करती है, राजनीति का विकास मॉडल सिर्फ केजरीवाल के पास है। लोगों को सस्ती बिजली देना, पानी उपलब्ध कराना ही असली देशभक्ति है। दिल्ली के लोगों ने संदेश दे दिया है कि केजरीवाल हमारा बेटा है, चुनाव के दौरान काफी नफरत फैलाई गई।

मंगलवार को प्रचंड बहुमत से जीत दर्ज करने वाले केजरीवाल ने बुधवार को सिविल लाइंस में अपने आधिकारिक आवास पर विधायकों से मुलाकात की और इस दौरान उन्हें विधायक दल का नेता चुना गया। इससे पहले बुधवार सुबह केजरीवाल उपराज्यपाल अनिल बैजल से मुलाकात करने पहुंचे। चुनाव नतीजों के बाद ये पहली औपचारिक मुलाकात है।

बता दें कि दिल्ली के चुनावी रण में आम आदमी पार्टी एक बार फिर से विजेता बनकर उभरी है। केजरीवाल की अगुवाई में AAP ने लगातार दूसरी बार जीत की आंधी में विरोधियों को उड़ा दिया। मंगलवार को दिल्ली विधानसभा चुनाव के आए नतीजों में AAP ने 70 में से 62 सीटें जीती हैं, जबकि भाजपा सिर्फ 8 सीटों पर सिमट गई और कांग्रेस का तो सूपड़ा ही साफ हो गया। 2015 की तरह इस बार भी कांग्रेस शून्य पर रही।