Logo
ब्रेकिंग
आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी

आर्यन वैली के खूबसूरत लोगों की अनोखी कहानी | kargil | Ladakh

भारत का ऐसा अनोखा गांव, जहां हर विदेशी महिला होना चाहती है प्रेग्नेंट, वजह जान चकरा जाएगा माथा

भारत का ऐसा अनोखा गांव, जहां विदेशी महिला प्रेग्नेंट होने के लिए आती हैं, इस गांव में विदेशी महिलाएं मर्दों को पैसा देकर उनसे संबंध बनाती हैं. अपना काम पूरा हो जाने के बाद वह वापस लौट जाती हैं.
वजह जानकर आपका माथा चकरा जाएगा l

भारत कई संस्कृतियों वाला देश है. आपने भारत के कई गांव और इलाकों के अजीबो गरीब किस्से सुने होंगे. आज हम आपको भारत के ऐसे गांव के बारे में बता रहे हैं, जहां हर विदेशी महिला मां बनना चाहती है. यह गांव पूरी दुनिया से अलग है. आइए जानते हैं इस गांव की पूरी कहानी.

भारत का एक ऐसा गांव जहां यूरोप से लड़कियां प्रेग्नेंट होने के लिए आती है यह सच है. इस गांव में महिलाएं घूमने के लिए नहीं बल्कि यहां के मर्दों से खुद को प्रेग्नेंट करवाने के लिए आती हैं. दरअसल, इस गांव में ब्रोकोपा जनजाति के लोग रहते हैं. जिन्हें अलेग्जेंडर द ग्रेट की सेना का वंशज माना जाता है.

यह गांव कारगिल से करीब 70 किलोमीटर दूर है, जिसका नाम आर्यन वैली विलेज है. इसके पीछे का किस्सा यह है कि अलेग्जेंडर द ग्रेट जब भारत में हारने के बाद जा रहा था तो उसके कुछ लोग भारत में ही रह गए थे. तब से अब तक उनके कुछ वंशज इसी गांव में रहते हैं. यूरोप की महिलाएं अलेग्जेंडर द ग्रेट जैसे बच्चे की चाह में इस गांव में आती हैं. वह यहां आने वाले पुरुषों के साथ संबंध बनाती हैं ताकि उनके बच्चे भी अलेग्जेंडर द ग्रेट जैसे हों l
यूरोपियन महिलाएं यहां पर मर्दों से संबंध बनाने के लिए उन्हें पैसे देती हैं. जब उनका काम पूरा हो जाता है तो वह वापस यूरोप चली जाती है. कुछ मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, लंबे समय से चल रहा यह अब बिजनेस के रूप में बदल गया है. इस गांव को लेकर दावा किया जाता है कि यहां पर अभी भी दो हजार से अधिक शुद्ध आर्यन जिंदा हैं. यहां के लोग अन्य राज्यों से बहुत अलग तरीके से रहते हैं. अगर पहनावे की बात करें तो यहां पर पुरुष और महिलाएं दोनों ही रंग बिरंगे और खास तरह के कपड़े पहनते हैं. यह लोग शाकाहारी होने के साथ गाय के दूध और दूध से बनी चीजें नहीं खाते हैं.