Logo
ब्रेकिंग
स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न ।

चुनाव आयोग हिंसक घटनाओं को नहीं रोक सकता, तो तृणमूल शुरू करेगी आंदोलन – सौगत रॉय

कोलकाता। बंगाल में सत्तारुढ़ तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) ने बेहद कड़े शब्दों में चुनाव आयोग (Election Commission)  पर हमला बोला है। टीएमसी के वरिष्ठ सांसद व प्रवक्ता सौगत रॉय (Saugat Roy) ने शुक्रवार को कहा कि अगर चुनाव आयोग और केंद्रीय सुरक्षा बल हिंसा की घटनाओं को कंट्रोल नहीं कर सकते, तो पार्टी को आंदोलन शुरू करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि पार्टी केंद्रीय सुरक्षा बलों द्वारा बंगाल की जनता पर की गई हिंसक कार्रवाईयों की निंदा करती है। यहां आयोजित संवाददाता सम्मेलन के दौरान रॉय ने केंद्रीय बलों पर बंगाल के लोगों पर अत्याचार करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि चुनाव ड्यूटी के लिए आए केंद्रीय बल के जवान लोगों को डरा-धमका व मार रहे हैं। इससे लोगों में भय का माहौल है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि चुनाव आयोग इसपर अंकुश नहीं लगाता है तो पार्टी आंदोलन शुरू करेगी।

  इसके साथ ही रॉय ने कहा कि भाजपा फेक न्यूज फैलाती है। एक बार वे कहते हैं कि ममता बनर्जी दूसरी विधानसभा सीट से चुनाव लड़ेंगी, फिर कहते हैं कि ममता नंदीग्राम से चुनाव हार जाएंगी और ये भी कहते हैं कि प्रशांत किशोर टीएमसी छोड़ रहे हैं। ये सब झूठ है। इससे पहले टीएमसी के सात सदस्यीय एक उच्चस्तरीय प्रतिनिधिमंडल ने शुक्रवार को कोलकाता में राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी से भी मुलाकात की और केंद्रीय बलों पर पक्षपात का आरोप लगाते हुए उनके खिलाफ शिकायत की। पार्टी ने आरोप लगाया कि केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जवानों ने बंगाल के नंदीग्राम विधानसभा क्षेत्र में मतदाताओं के साथ बदतमीजी की।

  टीएमसी ने चुनाव आयोग से अपील की कि ऐसे जवानों के खिलाफ तुरंत कार्रवई की जाए। चुनाव आयोग को दिए ज्ञापन में सत्तारूढ़ दल ने दावा किया कि नंदीग्राम के मतदान केंद्र संख्या 197 पर तैनात सीआरपीएफ कर्मियों को अनुपयुक्त व्यवहार करते और कुछ महिलाओं को धमकाते हुए भी देखा गया। उन्होंने कहा कि चुनावी ड्यूटी पर तैनात सीआरपीएफकर्मियों का इस तरह का आचरण भेदभाव वाला है जो तृणमूल के प्रति उनके पूर्वाग्रह को दर्शाता है। पार्टी ने मांग की कि मतदान केंद्र पर दुर्व्यवहार करने वाली सुरक्षा टीम को तुरंत हटाया जाए और आरोपित कर्मियों  के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। इससे पहले नंदीग्राम से टीएमसी की उम्मीदवार और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि भाजपा नेताओं के इशारे पर क्षेत्र में बड़े पैमाने पर फर्जीवाड़ा हुआ है और केंद्रीय बल धोखाधड़ी को रोकने के लिए कुछ नहीं कर रहे हैं।