Logo
ब्रेकिंग
आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी

सोनिया गांधी के खिलाफ FIR दर्ज कराने वाले वकील ने अब डीके शिवकुमार को मानहानि का नोटिस भेजा

शिवमोग्गा।  कर्नाटक कांग्रेस के प्रमुख डीके शिवकुमार को एक वकील ने मानहानि का नोटिस भेजा है और माफी मांगने को कहा है। वकील ने आरोप लगाया कि कांग्रेस नेता ने 13 मार्च को शिवमोग्गा में पार्टी की एक रैली में उन्हें ‘निकम्मा’ कहा था। यही कारण है कि उन्होंने कांग्रेस नेता को मानहानि का नोटिस भेजा है। वकील केवी प्रवीण इससे पहले कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी पर कांग्रेस के ट्विटर हैंडल के जरिए लोगों को पीएम केयर्स फंड को लेकर गुमराह करने को लेकर एफआइआर दर्ज करा चुके हैं।

समाचार एजेंसी एएनआइ से बात करते हुए प्रवीण ने कहा,’मैंने पिछले साल सोनिया गांधी के खिलाफ मामला दायर किया था। दुर्भाग्य से, पुलिस ने अंतिम रिपोर्ट अदालत में दाखिल नहीं की है। मैंने कर्नाटक उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया है और पुलिस से इस प्रक्रिया को तेज करने का निर्देश देने का अनुरोध किया है। उच्च न्यायालय ने शिवमोग्गा में सागर टाउन पुलिस को नोटिस जारी किया।

समाचार एजेंसी एएनआइ से बात करते हुए प्रवीण ने आगे कहा, ‘इस बीच डीके शिवकुमार ने 13 मार्च को शिवमोग्गा में कांग्रेस की एक रैली में मुझे निकम्मा कहा। मैंने उन्हें स्पष्टीकरण के लिए नोटिस भेजा और मैं मानहानि का मुकदमा दायर करूंगा।’ इससे पहले, शिवकुमार ने राज्य सरकार से सोनिया गांधी के खिलाफ एफआइआर में बी रिपोर्ट दर्ज करने का अनुरोध किया था। उन्होंने कहा था कि मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने उन्हें आश्वासन दिया था कि इस मामले को बंद करने के लिए एक बी रिपोर्ट दायर की जाएगी।

बता दें कि डीके शिवकुमार कर्नाटक के अश्लील सीडी मामले में भी फंसते दिख रहे हैं। सीडी में नजर आ रही महिला के माता-पिता ने  शिवकुमार पर अपनी बेटी का इस्तेमाल कर घटिया राजनीति करने का आरोप लगाया। मामले में कथित रूप से शामिल पूर्व मंत्री रमेश जर्किहोली ने भी उनपर साजिश रचने का आरोप लगाया है। हालांकि, शिवकुमार ने अपना पल्ला झाड़ लिया और कहा कि उनका इस मामले से कोई लेना-देना नहीं है और वह  सीडी में दिखाई दे रही महिला से कभी नहीं मिले।