Logo
ब्रेकिंग
स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न ।

रोड शो के दौरान शाह बोले- LDF, UDF से परेशान जनता की निगाहें BJP पर

कोच्चि। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बुधवार को कहा कि केरल के लोग वाम लोकतांत्रिक मोर्चा (LDF) और यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (UDF) से तंग आ चुके हैं और वे अब भाजपा को एक विकल्प के रूप में देखते हैं। एएनआइ से बात करते हुए, शाह ने दावा किया कि भाजपा विधानसभा चुनावों में अच्छा प्रदर्शन करेगी।

उन्होंने कहा, ‘केरल के लोग एलडीएफ और यूडीएफ से तंग आ चुके हैं। यहां के लोग भारतीय जनता पार्टी को एक विकल्प के रूप में देख रहे हैं। मुझे यकीन है कि हम आगामी केरल विधानसभा चुनावों में अच्छा प्रदर्शन करेंगे।’ अमित शाह की केरल के थ्रिप्पुनिथुरा में रैली हो रही थी, जिसके बाद उन्होंने अपना संबोधन भी दिया, जिसमें उन्होंने कहा कि LDF, UDF की सरकारों ने केरल को भ्रष्टाचार का अड्डा बना दिया।

कांग्रेस पर क्या बोले अमित शाह?

कांग्रेस को एक भ्रमित पार्टी कहते हुए, पूर्व भाजपा प्रमुख ने कहा कि वे केरल में कम्युनिस्टों के खिलाफ लड़ रहे हैं और पश्चिम बंगाल में उनके साथ गठबंधन किया है। उन्होंने कहा ‘कांग्रेस एक भ्रमित पार्टी है। केरल में, वे कम्युनिस्टों के खिलाफ लड़ रहे हैं और बंगाल में उनके साथ लड़ रहे हैं। कांग्रेस पार्टी और उसका नेतृत्व भ्रमित करने वाला है।’ बता दें कि यह अमित शाह ने थ्रिप्पुनिथुरा में रोड शो करते हुए कहा।

भाजपा 115 सीटों पर चुनाव लड़ रही है और बाकी 25 सीटें सहयोगी दलों के लिए छोड़ दी गईं, हालांकि, गठबंधन के तीन उम्मीदवारों ने इस सप्ताह के शुरू में अपना नामांकन खारिज कर दिया। 14 जिलों में 140 सदस्यीय केरल विधानसभा के लिए चुनाव 6 अप्रैल को एक चरण में होगा। मतगणना 2 मई को होगी।