Logo
ब्रेकिंग
Bjp प्रत्याशी ढुल्लु महतो के समर्थन में विधायक सरयू राय के विरुद्ध गोलबंद हूआ झारखंड वैश्य समाज l हजारीबाग लोकसभा इंडिया प्रत्याशी जेपी पटेल ने किया मां छिनमस्तिका की पूजा अर्चना l गांजा तस्कर के साथ मोटासाइकिल चोर को रामगढ़ पुलिस ने किया गिरफ्तार स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार

मनसुख हिरेन की हत्‍या में सचिन वाझे शामिल, अदालत से करेंगे हिरासत की मांग: महाराष्ट्र एटीएस

मुंबई। महाराष्ट्र आतंकवाद विरोधी दस्ते (एटीएस) ने मंगलवार को कहा कि निलंबित पुलिस अधिकारी सचिन वाझे व्यापारी मनसुख हिरन की हत्या में शामिल था और उसकी हिरासत की मांग के लिए अदालत का दरवाजा खटखटाएंगे। उद्योगपति मुकेश अंबानी के आवास के पास एक कार विस्फोटक की बरामदगी की जांच में निलंबित पुलिस अधिकारी सचिन वाझे को गिरफ्तार किया गया था। पिछले महीने मुंबई की एक अदालत ने राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) को 25 मार्च में रिमांड में दिया था।

एटीएस प्रमुख जयजीत सिंह ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि हमें उसकी हिरासत की जरूरत है और अदालत का दरवाजा खटखटाएंगे। इससे पहले दिन में एटीएस ने कहा कि मनसुख हिरन की हत्‍या के मामले में दमने से हाई एंड कार को जब्त किया है। महाराष्ट्र पंजीकरण वाली वोल्वो कार को जब्त कर लिया गया है। सोमवार को एक अधिकारी ने कहा, यह स्पष्ट नहीं है कि इस कार का मालिक कौन है?

ज्ञात हो कि मनसुख हिरेन हत्याकांड में पिछले सोमवार को ठाणे एटीएस ने एक आरोपी विनायक शिंदेको उस स्थान पर जाकर सीन रिक्रिएट  किया, था, जहां 5 मार्च को मनसुख हिरेन का शव पाया गया था। विनायक शिंदे ने यह भी बताया कि गिरफ्तार चिन वाझे ही इस मामले का मुख्य साजिशकर्ता है।  विनायक पहले से सजायाफ्ता कैदी है। वह एक फर्जी एनकाउंटर मामले में उम्रकैद की सजा काट रहा है।

इन दिनों वह पैरोल पर बाहर था। चूंकि वह एक समय सचिन वाझे के साथ काम कर चुका था, इसलिए वाजे ने मनसुख मामले में उसे भी अपना साथी बना लिया। उसके साथ एक बुकी को भी गिरफ्तार किया गया है। एटीएस सूत्रों के अनुसार सचिन को हिरासत में लेने के बाद एटीएस विनायक शिंदे एवं सचिन वाझे को साथ बैठाकर भी पूछताछ करेगी।