Logo
ब्रेकिंग
आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी

एक-दूसरे से Video Call पर बात कर भावुक हुए बादल पिता-पुत्र, कोविड पॉजीटिव आनेे से अस्पताल में भर्ती हैं सुखबीर

चंडीगढ़। पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने वीडियो कॉल कर अपने बेटे एवं पूर्व डिप्टी सीएम शिअद प्रधान सुखबीर बादल से बात की और उनकी कुशलक्षेम पूछी। सुखबीर बादल इन दिनों गुरुग्राम स्थित मेदांता हास्पिटल में भर्ती हैं। वह कुछ दिन पहले कोरोना पॉजीटिव आए थे।

बेटे सुखबीर सिंह बादल को अस्पताल में देख पिता प्रकाश सिंह बादल भावुक हो गए। उन्होंनेे बेटे का हौसला बढ़ाया कि वह जल्द स्वस्थ हो जाएंगे। बता दें, प्रकाश सिंह बादल भी इन दिनों दिल्ली में ही हैं। दरअसल, सुखबीर सिंह बादल के कोरोना पॉजीटिव आने के बाद बादल परिवार के तीन कर्मचारी भी कोरोना संक्रमित हो गए थे। इसके कारण प्रकाश सिंह बादल भी दिल्ली स्थित आवास पर चले गए थे। सांसद हरसिमरत कौर बादल व उनके बच्चे भी दिल्ली में ही हैं। बादल निवास पर परिवार का कोई सदस्य नहीं है।

सुखबीर बादल के कोरोना पॉजीटिव आने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल सहित अन्य कर्मचारियों के भी स्वास्थ्य विभाग ने सैंपल लिए थे, जिसमें प्रकाश सिंह बादल की रिपोर्ट नेगेटिव आई, लेकिन उनके तीन कर्मचारी पाजिटिव पाए गए। इनसमें एक उनकी महिला कुक, उसके पति व बादल के केयर टेकर के अलावा एक एसआइ की रिपोर्ट कोरोना पाजिटिव पाई गई है।

सुखबीर बादल 17 मार्च की शाम को मेदांता अस्पताल में भर्ती हुए थे। अब उनके स्वास्थ्य में सुधार है। डाक्टरों का कहना है कि वह कोरोना संक्रमित हैं लेकिन बुखार व अन्य कोई परेशानी नहीं है। बादल आराम से भोजन खा रहे हैं। उनका इलाज वरिष्ठ फिजिशियन डा. सुशीला कटारिया की देख-रेख में चल रहा है।

बता दें, पंजाब में कोरोना के मामले एक बार फिर तेजी से बढ़ रहे हैं। खास बात यह है कि यह युवाओं में भी तेजी से बढ़ रहा है। वर्तमान में 40 फीसद संक्रमित 30 साल से कम आयु वर्ग के हैं। गौरतलब है कि पिछले साल संक्रमित होने वाले में 45 साल से ऊपर आयुवर्ग वालों की संख्या ज्यादा थी। अब सरकार ने रोजाना होने वाली टेस्टिंग की संख्या 30 हजार से बढ़ाकर 35 हजार कर दी है। वहीं, मीटिंग में लुधियाना के डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि जिले में सभी स्वास्थ्य सेवाएं स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं।